Blog

नागदा-वाल्मीकि समाज का मिलन समारोह कल

0

Nagda|Mpnews24|वाल्मीकि समाज की अगुवाई में कल शुक्रवार को दीपावली मिलन समारोह व बुजुर्ग सम्मान समारोह आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम नगर पालिका कम्यूनिटी हॉल में दोपहर 2 बजे आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम में अतिथि के रूप में कर्मकार मंडल बोर्ड अध्यक्ष सुल्तानङ्क्षसह शेखावत, विधायक दिलीपङ्क्षसह शेखावत, नगर पालिका अध्यक्ष अशोक मालवीय, मप्र कांग्रेस कमेटी महासचिव दिलीपङ्क्षसह गुर्जर, रामचंद्र कोरट, रामचंद्र ऊंटवाल रहेगे। इसके बाद बुजुर्गो का सम्मान समारोह आयोजित किया जाएगा।

उन्हैल-दिनांक.22.11.2017, सिटी हलचल समाचार पढे जरूर

0

Unhel।MPnews24|दुर्घटना मे घायल डा. षिवनारायण राठोर का मंगलवार की दोपहर उपचार के दोरान इंदोर के निजी चिकित्सालय मे निधन हो गया। उनकी अंतिम यात्रा बुधवार की दोपहर उनके निवास स्थान उज्जैन रोड़ निकली जिसमे बड़ी संख्या मे सभी वर्गो के लोग षामिल हुए।
षांतिवन मे षोकसभा मे जेन समाज के वरिष्ठ केलाष जैन, सेवानिवृत षिक्षक मुष्ताक अली, पत्रकार इसरार कुरेषी, रमेष षर्मा नागदा आदि ने उनके जीवन के बारे मे विचार व्यक्त कर श्रंद्धंाजली अर्पित की। दो मिनीट का मोन रखकर सामुहिक रूप् से श्रद्धांजली दी गई। उल्लेखनिय है की गत 13 नवंबर को ग्राम पिपल्यामोलु से उन्हैल आते समय नागदा रोड़ पर दुर्घटना के षिकार हो गए थे। अंतिम यात्रा मे डा. एलएन रावत, पार्षद हुसेन षाह, सुरेष साकला, दाउद पठान, संत्येंद्र गेंदर, पत्रकार ओमप्रकाष जेन, प्रकाष जैन आदि मोजुद थै।

उन्हैल। षासकिय प्राथमिक स्वास्थ केंद्र पर चिकित्सको के समय पर उपलब्ध नही होने से रोगी इंतेजार मे परेषान होते रहते हे रात के समय तो यहा पर कोई चिकित्सक मोजुद नही रहता है। जिससे गंभीर रोगी व दुर्घटना मे घायल को उपचार के लिए 40 किलो मिटर दुर उज्जैन लेजाना पड़ता है।
यहा पर यहा पर दो चिकित्सक बीएमओ डा. संजिव कुमरावतव डा. महेंद्र रघुवंषी है बीएमओ डा. कुमरावत नागदा चिकित्सालय मे भी होने से यहा पर समय नही दे पाते हे वही डा. रघुवंषी इंदोर से अपडाउन करते है जिसके कारण वह सुबह 10 11 बजे तक आते है ओर सायं 5 बजे वापस लोट जाते है एसी स्थिती मे चिकित्सालय मे डा. नही होने का खामियाजा आम जन को भोगना पड़जा है सबसे अधिक परेषानी उस समय होती हे जब उज्जैन जावरा मार्ग पर दुर्घटना मे घायल व्यक्ति को अस्पताल मे इलाज नही मिल पाता है।
फोटो

नागदा-मुख्यमंत्री के उज्जैन कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दिखाया

0

Nagda|Mpnews24|भावांतर योजना के अंतर्गत राशि भुगतान को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने बुधवार को उज्जैन में एक समारोह के माध्यम से जिला सहित प्रदेश भर के 1 लाख 35 हजार से अधिक किसानों को भावांतर भुगतान राशि के रूप में प्रमाण पत्र वितरित करने व ऑन लाईन के माध्यम से उक्त भुगतान की प्रकिया को अंजाम दिया गया। उज्जैन में हुए उक्त कार्यक्रम से सीधा जोडने हेतु कृषि मंडी प्रागंण में प्रोजेक्टर के माध्यम से उज्जैन के आयोजन का सीधा प्रसारण दिखाया गया। वहीं इस आयोजन में नगर पालिका अध्यक्ष अशोक मालवीय के नेतृत्व में करीब 200 से भी अधिक हितग्राही किसानों को वाहन के माध्यम से उज्जैन ले जाया गया था। कृषि मंडी नागदा में हुए आयोजन को देखने के लिए किसानों के अलावा यहां के व्यापारी ,तुलावटी व अन्य नागरिक मौजूद थे।

नागदा-आजादी के पूर्व बने ब्रिज को रेल्वे की टीम ने किया धराशय,  मेघा ब्लॉक के चलते टे्रनों का परिचालन रहा बंद ,कई टे्रने हुई प्रभावित 

0
Nagda|Mpnews24|मंडी एवं बिरलाग्राम को जोडने वाले नागदा रेल्वे स्टेशन पर बने दो पैदल पुलों को धराशय करने की कार्यवाही रतलाम रेलवे मंडल के द्वारा की गई। यहां एक ब्रिज तो आजादी के पहले का बना हुआ था तथा दूसरा आजादी के बाद। दोनों ही ब्रिज को धराशय करने के लिए गुजरात के बड़ौदरा कंपनी को ठेका दिया गया। ब्रिज धराशय  को अंजाम देने के लिए 100 से भी अधिक कर्मचारी व अधिकारी मय संसाधनों के जुटे हुए थे। मेघा ब्लॉक की वजह से कई टे्रनों का परिचालन रोक दिया गया। तो कई टे्रने उक्त कार्य के चलते प्रभावित भी हुई। सुबह साढे 9 बजे के दरर्मियान उक्त कार्य की शुरूआत विभाग के अधिकारियों की देख रेख में प्रारंभ की।  कार्य शुरू करने के पहले प्लेटफार्म 1 व 2 पर टे्रनों का परिचालन बंद किया गया तथा प्लेटफार्म नं 3,4,5 से ट्रेनों को निकाला गया। जिसकी वजह से कई टे्रने प्रभावित हुई। वैसे इस कार्य के दौर में कोई भी टे्रन को निरस्त नहीं किया गया। वैसे नागदा रेल्वे स्टेशन में अभी तक का समय बडा मेघा ब्लॉक लगाया गया। उक्त ब्लॉक के लगने से दो दर्जन से भी अधिक टे्रने काफी देरी से नागदा स्टेशन पहुंची तो कुछ टे्रनों को नागदा स्टेशन से दूर आउटर पर खडा किया गया । जो जानकारी मिली उसके अनुसार अगला मेघा ब्लॉक संभवत: दिसम्बर माह में पुन: किया जाएगा  उस दौरान ब्रिज का बचा शेष भाग भी धराशय किया जाएगा।

इसलिए लगाना पडा मेघा ब्लॉक 

मंडी एवं बिरलाग्राम क्षेत्र को जोडने वाले ब्रिज को इसलिए धराशय करना जरूरी हो गया था क्योंकि यह ब्रिज काफी पुराना होकर जर्जर स्थिति में पहुंच गए थे। वैसे यह कार्य सिंहस्थ के पूर्व किया जाना था लेकिन किन्ही कारणों के चलते ऐसा नहीं हो पाया। परंतु बुधवार को उक्त कार्य को अंजाम देने के लिए रतलाम रेल्वे मंडल के अधिकारियों की देखरेख में बना क्योंकि एक ब्रिज तो सन् 1940 में अंग्रजों के जमाने का आजादी के पहले बना हुआ था वहीं दूसरा ब्रिज आजादी के बाद 1990 के दशक में बनाया गया गया था। उक्त ब्रिज के निर्माण में लकडियों का उपयोग किया गया था परिणाम स्वरूप लंबा समय बीत जाने की वजह से ब्रिज पर लगी लकडियों की सीड़ीया जर्जर हो गई थी। वैसे उक्त दोनों ब्रिज मंडी एवं बिरलाग्राम क्षेत्र को जोडने वाले थे और इन्हीं ब्रिज से नागरिकों का आवागमन दोनों ही क्षेत्रों के लिए होता आ रहा था। सिंहस्थ महापर्व के दौर में यहां एक नवीन ब्रिज का निर्माण जरूर किया गया था जिसके चलते उक्त पुराने समय के ब्रिज अनुउपयोगी भी हो गए थे तथा यह पुराने ब्रिज प्लेट फार्म नं १, २, ३, ४ तथा ५ को जोड़ते थे।

टे्रक के उपर से गुजर रही 25 हजार केबी की विद्युत लाईन को किया बंद 

पैदल पुल को हटाने के लिए गुजरात के बड़ौदरा की टीम ने  नागदा, रतलाम, देवास, मक्सी व बामनिया की टीआरडी टीम की मदद ली गई। ब्रिज हटाने के दौरान ट्रेक के उपर से गुजर रही २५ हजार केबी की विद्युत लाइन व जमीन के अंदर से जा रही पाइप लाइन को भी बंद कर निकाला गया। मेघा ब्लॉक के चलते कई ट्रेन प्रभावित हुई। रेलवे ने ट्रेक के उपर से जा रही बिजली कंपनी की लाइन को भी बंद कर दिया। इस कारण 5 ट्रेक से ट्रेन का आवगमन बंद रहा। जिसके चलते लोडप्लेटफार्म नं ३, ४ व ५ पर आ गया। कई ट्रेनों को जंगल में खड़ा किया। नागदा- बीना ट्रेन जो दोपहर 3 बजे नागदा आती है।इस टे्रन को लगभग 3 घंटे तक आउटर पर खड़ा किया गया। यह ट्रेन शाम 6  बजे स्टेशन  पहुंची। इसी प्रकार इंदौर से नागदा आने वाली पैसेंजर ट्रेन भी लगभग १घंटे तक नागदा आउटर पर खड़ी रही। कुछ ट्रेन को नागदा से दूर गांव भाटीसुडा व बिरियाखेडी के समीप भी खड़ी रही। नागदा स्टेशन पर बिजली की लाइन बंद करने से नागदा से गुजरने वाली राजधानी ट्रेन की गति पर भी ब्रेक लग गया। इस ट्रेन मेें व कई महत्तपूर्ण सुपरफास्ट ट्रेन में बिजली के इंजन के बजाए डीजल का इंजन लगाया गया। सुबह ९ बजे नागदा से गुजरने वाली राजधानी ट्रेन का राजस्थान के कोटा स्टेशन पर पावर बदल कर डीजल का लगाया गया।हालांकि रतलाम स्टेशन पर इंजन बदल कर पुन:बिजली का लगाया। लेकिन लगभग ३०० किमी कोटा से रतलाम तक उक्त ट्रेन की गति पर ब्रेक लगा रहा। प्लेट फार्म नं १ व २ से ट्रेन नहीं चलने से कईयात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। विशेषकर वृद्ध व महिला यात्रियों को अधिक परेशानी हुई। इन यात्रियों को पूरे स्टेशन का चक्कर लगाकर प्लेट फार्म नं 5 पर जाना पड़ा।प्लेट फार्म नं 4 व 5 पर एक भी खानेे की स्टॉल नहीं है। जिससे यात्रियों को नाश्ता करने के लिए प्लेटफार्म नं ३ पर आना।इस कारण कईयात्रियों की ट्रेन भी निकल गई।

यह ट्रेने हुई प्रभावित 

टे्रन नं ट्रेन का नाम कितनी रही लेट
१९०२० देहरादून-ब्रांदा एक्सप्रेस  २ घंटे
५९३४५ रतलाम-बीना  ४५ मीनट 
१९०३७ ब्रांदा-गौरखपुर अवध  २घंटे
१९०४० मुजफ्फरपुर-ब्रांदा       ३ घंटे
१९०१९ ब्रांदा-देहरादून एक्सप्रेस ३० मीनट
५९८०३ रतलाम-जयपुर मेला एक्सप्रेस १ घंटे
५९८०२ जयपुर-रतलाम मेला एक्सप्रेस 1:३० मीनट
५९३८८ इंदौर-नागदा १:३० मीनट
१६८६४ भगत की कोठी २:३० मीनट
५९८३१ बडोदरा-कोटा पार्सल १घंटे
५९८३२ कोटा-बडोदरा १ घंटे
२२९४४ इंदारै-पुणे ३० मीनट 
५९३४२ बीना-नागदा ३ घंटे

नागदा-बडे बडे नेताओं के सामाजिक कार्यकर्ता अभय चोपडा को ऐट्रोसिटी एक्ट के झूठे केस में जेल पहुचाने के मनसुबे हुए ध्वस्त, मिली जमानत

0

Nagda|Mpnews24|सामाजिक कार्यकर्ता अभय चोपडा के द्वारा उज्जैन के अजाक थाने में पेंश होकर विशेष् न्यायालय के न्यायधीश के यहा जमानत को आवेदन करने पर अपने निर्णय में बताया कि प्रकरण के तथ्यों से यह लगता है कि वास्तव में यह जातिगत विवाद की बजाय राजनैतिक विवाद प्रतीत होता है । सूचना के अधिकार के अधिनियम के तहत जानकारी लेना ,न्यायालय में कार्यवाही करना ऐसे तथ्य नही है , जिनके आधार पर प्रथम दृष्टा आवेदक/अभियुक्त को जमानत का लाभ न दिया जाये। सह अभियुक्त सुबोध स्वामी नगर पालिका में पार्षद और आवेदक अभियुक्त सोशल एक्टीवीस्ट बतलाया जाता है सामाजिक कार्यकर्ता अभय चोपडा को न्यायालय ने जमानत आवदेन स्वीकार कर लिया|साथ ही इस निर्णय से सामाजिक कार्यकर्ता अभय चोपडा को बदनाम करने वाले कुछ पत्रकारो मनसुबे पर पानी फिर गया।

नोटिस चस्पा करने के आदेश

इसके पहले 21.11.2017 को अभय चोपडा न्यायालय में प्रस्तुत हुए थे लेकिन परिवादी को सूचना तामिल नही होने पर अजाक पुलिस को निदेशित किया था कि 24 घटें में सूचना का तामिल करके न्यायालय में प्रस्तुत करे और तामिल नही होती है तो शिकायतकर्ता के घर नोटिस सूचना पत्र चस्पा कर दिया जावे।

जमानत में अडन्गा लगाने का षडयंत्र

शिकायतकर्ता द्वारा जानबूझकर जमानत में अडन्गा डालने एवं सामाजिक कार्यकर्ता अभय चोपडा को जेल पहुचाने के उद्देश्य से जानबूझकर तामिल नही ली थी। न्यायालय द्वारा सूचना पत्र चस्पा किये जाने के आदेश से चोपडा को जमानत का रास्ता साफ हो गया था और ऐसे मामलों में भविष्य में अन्य निदोष व्यक्तियों को लाभ मिलेगा।

परिवादी ने यह कि मांग

परिवादी नगर पालिका अध्यक्ष ने जमानत पर घोर आपत्ति प्रकट की। परिवादी नपा अध्यक्ष का पक्ष है कि वह अनुसुचित जाति का सदस्य है। और नगर पालिका के अध्यक्ष के पद अनुसुचित जाति का सदस्य पहली बार आसीन हुआ है। अभियुक्त अपने आप को सोशल एक्टिवीस्ट बतलाया है और सह अभियुक्त सुबोध स्वामी के साथ मिलकर परिवादी के कामो में अडचन डालता है बार बार सूचना के अधिकार के अधिनियम के तहत सैकडो आवेदन लगाता है परिवादी को प्रताडित करने के लिये और उसे परेशान करने के लिये झूठी कार्यवाहिया करता है। अभियुक्त के कारण परिवादी का काम करना दुभर हो गया है, उस पर माननीय उच्च न्यायालय ने भी हर्जा अधिरोपित किया है , जमानत खारिज की जावे।

परिवादी की लिखित रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध होकर अनुसंधान जारी है परिवादी के अनुसार वह अनुसुचित जाति का सदस्य है, इसलिए उसके विरूद्ध मिथ्या और तंग करने वाले अभियोग अभियुक्तगण लगाते है , उसे काम नही करने देते है।

ममला मृत्यु या आजीवन कारावास से दण्डनीय नही है । अपराध में न्युनतम 6 – माह और अधिकतम 5- वर्ष के दण्ड कर प्रावधान है। विचारणमें समय लग सकता है । आवेदक/ अभियुक्त के फरार होने की कोई संभावना अभिलेख पर नही बतलाई गई है। उसके विरूद्ध किाी पुर्वतम दोष सिद्धी का कोई प्रमाण अभिलेख पर नही है । जिस तरह के अभियोग बताये गये है , उसे देखते हुए जमानत आवेदन स्वीकार

उन्हैल-दिनांक.20.11.2017, 3 हलचल समाचार, पढे जरूर

0

1ग्रामीणो के साथ विद्यालय जाने वाले छोटे छोटे बच्चो को भी गंदगी व कचड़ का सामना करना पड़ता है

|Mpnews24|ग्राम चंबलपाड़ल्या से उन्हेल रेल्वे स्टेषन तक का सड़क मार्ग जरजर हो गया है। गाव मे इस मार्ग पर गड्डे होने से घरो का गंदा पानी गड्डो मे भरा रहता है। जिसके कारण ग्रामीणो के साथ विद्यालय जाने वाले छोटे छोटे बच्चो को भी गंदगी व कचड़ का सामना करना पड़ता है। वाहन चालक भी इन गड्डो से परेषान है। सोहनसिंह राजपुत उन्हेल स्टेषन ने सड़क मरम्मत की मांग की है।

2-ग्राम पासलोद मे सोमवार की दोपहर 2 बजे आपसी विवाद के कारण दो परिवारो मे मार पिट

|Mpnews24|ग्राम पासलोद मे सोमवार की दोपहर 2 बजे आपसी विवाद के कारण दो परिवारो मे मार पिट हो गई। पुलिस ने तीन आरोपियो के विरूद्ध प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार आरोपी विजय पिता बाबुलाल, रेखा पति बाबुलाल तथा बाबुलाल पिता बसंतीलाल ने धापुबाई पति मुकेष जायसवाल उम्र 32 वर्ष के साथ मारपिट की जिससे धापुबाई के सर व हाथ मे चोटे आई प्राथमिक उपचार के बाद धापुबाई को उज्जैन रेफर किया गया। मंजुबाई नामक महिला को भी मामुली चोटे आई हैै।

3-पिडिता ने की ससुराल पक्ष के विरूद्धकराया प्रकरण दर्ज

|Mpnews24| उज्जैन रोड़ स्थित पगारा बस स्टेण्ड निवासी सोना पति षिवनारायण गुर्जर ने सोमवार को पुलिस थाना पहुचकर अपने पति षिवनारायण तथा जेठानी चतरबाई के विरूद्ध प्रताड़ित करने की षिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने दोनो आरोपियो के विरूद्ध धारा 498 मे प्रकरण दर्ज किया।

नागदा-रामद्वारा झुटावद में मनाया मेला महोत्सव,यज्ञ में दी पूर्णाहुति

0

Nagda|Mpnews24|अंतर्राष्ट्रीय रामस्नेही संप्रदाय आचार्य पीठ श्री राम धाम खेडापा का थंबायत रामद्वारा झुटावद में माणकराम मेला महोत्सव मनाया गया जिसमें गत 7 दिनो से वाणी पाठ व अखंड राम नाम जप एक यज्ञ की पूर्णाहुति दी गई तत्पश्चात आरती कर प्रसादी का वितरण किया गया। इसके अंतर्गत रामस्नेही संप्रदाय सिंगल पीठाधीश्वर श्री 1008 थबायत महंत महाराज एवं रामस्नेही संप्रदाय पीठाधीश्वर श्रीश्री 1008 पुरूषोत्तमदास महाराज के पावन सानिध्य में भैरव भगवान के समक्ष रामद्वारा झुटावद महंत सन्मुख राम जी की नियुक्ति की गई। साध्वी शांतिभाई ने बताया कि रामद्वारा के महंत श्री समग्र रामजी महाराज को बनाया गया और इस अवसर पर खेडापा उत्तराधिकारी गोविंद दास महाराम और ढाई सौ संत व समस्त मिथुन खेडापा के भेरू भगवान सरपंच समस्त ग्रामवासी झुटावत एवं समस्त जिलों से भी भक्तों ने मेला महोत्सव में भाग लिया। उक्त जानकारी अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा महिला प्रदेश अध्यक्ष हेमलता तोमर ने दी ।

नागदा-नपाध्यक्ष ने निमार्ण कार्य का किया निरीक्षण

0

Nagda|Mpnews24| वार्ड क्र. 14 में 35 लाख रूपए की लागत से निर्मित सीमेंट कॅाक्रीट निमार्ण कार्य का नगर पालिका अध्यक्ष अशोक मालवीय के द्वारा निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान संबंधित ठेकेदार को निर्धारित मापदण्ड के अनुरूप कार्य करनें के निर्देश भी दिए गए साथ ही नगर पालिका के अधिकारीयों को भी निर्देश दिए गए कि कार्य उच्च गुणवत्ता के अनुरूप हो ।

सफाई अभियान को भी परखा

नपा अध्यक्ष श्री मालवीय के द्वारा वार्ड क्रं 1 चेतनपुरा में स्वच्छ भारत अभियान के तहत् विशेष सफाई अभियान के तहत् निरीक्षण किया गया । निरीक्षण के दौरान साफ सफाई से संबंधित शिकायतों को सुना गया और मौके पर ही निराकरण कराया गया और स्टाप डेम खाल की पाल को तोडकर पानी की निकासी के निर्देश भी दिए। प्रत्येक दिवस अब स्वच्छ भारत अभियान के तहत् प्रत्येक वार्ड में सफाई अभियान चलाया जावें । इस अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष श्री मालवीय के व्दारा नागरिकों से अपील की है कि वें स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत अभियान में सहयोग करें । इस दौरान नागरिकों के व्दारा पेयजल की समस्या से अवगत कराया जाए । इसके त्वरित निराकरण के लिए नपाध्यक्ष श्री मालवीय नें 20 नग पाईप की छड तत्काल लगानें के निर्देश दिए।

ये थे मौजूद

इस अवसर पर लोक निमार्ण विभाग के सभापति हरीश अग्रवाल, सुनील गुर्जर, दीनदयाल चुकरी, राजू चौधरी सहित नगर पालिका के यंत्री शाहिद मिर्जा, कुशल धोलपूरे, प्रेेम बोयत आदि मौजुद थे ।

नागदा-विद्यालय भवन के अभाव में नौ निहालों को सडक़ पर बैठकर प्राप्त करना पढ रही है शिक्षा, 2014 से ही सडक पर चल रहा है स्कूल

0

Nagda|Mpnews24| जहां एक ओर प्रदेश से लेकर केन्द्र सरकार शिक्षा के महत्व व हर बच्चा शिक्षित हो को लेकर प्रचार प्रसार में करोडों रूपए खर्च कर रही है स्कूल चले हम अभियान को भी गति दी जा रही है। परंतु देखने में यहीं आ रहा है कि कई एसे गांव व शहर है जहां या तो शासकीय विद्यालय किराए के भवन में चल रहे है या पेड के नीचे बैठकर नौ निहालों को पढाया जा रहा है। लेकिन इस दिशा में किसी का भी ध्यान नहीं जा रहा है। जन प्रतिनिधि आजादी के 70 वर्षो के इतिहास की बडी बडी बाते भी करते है लेकिन भवन के अभाव में जो विद्यालय चल रहे है उसको लेकर कोई रूची नहीं ली जा रही है और यहीं वजह है कि शासकीय विद्यालयों में अध्ययनरत नौ निहालों को कई तरह की परेशानियों से झुझना पड रहा है। विद्यालय भवन के अभाव में सडक पर संचालित होने वाले एसे ही एक विद्यालय का मामला प्रकाश में आया है। अंजनी नगर क्षेत्र जो वर्तमान में मारूती नगर के रूप में जाना जाता है यहां शासकीय प्राथमिक विद्यालय वर्ष 2014 से ही एक मंदिर के निकट पेड के नीचे सडक पर संचालित हो रहा है। उक्त विद्यालय के भवन के मामले को लेकर कई वर्षो से शासन ,प्रशासन व जनप्रतिनिधि को भी आवेदन दिए गए लेकिन किसी ने भी इस दिशा में कदम नहीं उठाए। परिणाम स्वरूप उक्त शासकीय प्राथमिक विद्यालय के मासूम नौनिहालों बच्चों को सडक पर बैठकर सर्दी,गर्मी व बारिश में शिक्षा ग्रहण करना पड रही है। जबकि उक्त विद्यालय की स्वीकृति वर्ष 2013 में ही दे दी गई थी तथा अजंनी नगर प्राथमिक विद्यालय के नाम से उक्त विद्यालय को मर्ज किया गया था लेकिन भवन का अभाव आज भी खल रहा है।
फोटो ०३- सडक पर भवन के अभाव में अध्यन करते हुए
8

नागदा-उत्कृष्ट रोड निमार्ण में नेताओं के ईशारे पर दोहरे मापदण्ड पर नागरिको में आक्रोश आदोलन की चेतावनी

0
Nagda|Mpnews24| उत्कृष्ट सडकों के निर्माण के दौरान अतिक्रमण हटाने एवं चौढाई मेंं बरते जा रहे भेदभाव को लेकर चंबल मार्ग के निवासी मुखर हो उठे हैं। सैकडों हस्ताक्षरकर्ता नागरिकों ने प्रशासनिक अधिकारियों से शिकायत की है कि महिदपुर रोड को भाजपा नेताओं के दबाव में मात्र १९ मीटर ही बनाया गया जबकि चंबल मार्ग उत्कृष्ट सडक को २२ मीटर चौडा बनाया जा रहा है। ऐसा भी नहीं है कि महिदपुर रोड मार्ग के निर्माण में अतिक्रमणकर्ताओं को नोटीस नहीं दिये गये थे, नोटीस के बावजुद लोगों ने अतिक्रमण नहीं हटाया तथा सडक का निर्माण १९ फीट ही हो पाया लेकिन चंबल मार्ग पर बिना नोटीस के लोगों के आशियानों पर बुलडोजर भाजपा नेताओं के ईशारे पर चलाया जा रहा है जिसको लेकर नागरिकों में गहरा आक्रोश है।

उत्कृष्ट सडकों के निर्माण में हो रहा भेदभाव

रोड निर्माण में किए जा रहे भेदभाव को लेकर ईदगाह से खाचरौद नाके के रहवासियों द्वारा एसडीएम के माध्यम से कलेक्टर को बगैर किसी भेदभाव के बस स्टेण्ड से महिदपुर रोड तक की रोड चौडाई अनुसार ही ईदगाह से खाचरौद नाका तक की रोड का निर्माण किया जाने, महिदपुर रोड से बस स्टेण्ड तक की रोड का निर्माण कार्य पूर्ण किया जाये उसके उपरांत ईदगाह से खाचरौद नांका की रोड का निर्माण किये जाने तथा महिदपुर रोड से बस स्टेण्ड तक के अतिक्रमणकर्ताओं को नोटिस दिए जाने के बावजुद भी उनका अतिक्रमण नहीं हटाया गया और इसके विपरित ईदगाह रोड पर बगैर नोटिस दिए बगैर मुआवजा दिए मकान को तोडने की कार्यवाही की गई इस प्रकार किए जा रहे पक्षपात को लेकर ज्ञापन प्रेषित कर न्याय प्रदान करने की मांग की गई है। रहवासियों द्वारा दिए गए ज्ञापन में कलेक्टर से जांच की मांग करते हुए अनुरोध किया है कि ईदगाह से खाचरौद नाका तक केन्द्रीय सडक निधि से बन रही रोड के निर्माण में भेदभाव किया जा रहा है। लोकनिर्माण अधिकारियों द्वारा बार-बार अलग-अलग नपती की जा रही है जिसके कारण भ्रम की स्थिति पैदा हो रही है।

महिदपुर रोड सडक १९ मीटर एवं चंबल मार्ग २२ मीटर क्यों ?

शिकायत में चंबल मार्ग के रहवासियों द्वारा जिन बिन्दुओं को उठाया गया है उनमें महिदपुर रोड से बस स्टेण्ड तक रोड निर्माण हेतू १९ मीटर चौडी सडक का निर्माण किया जा रहा है जबकि उसकी स्वीकृति २० मीटर की है। वहां पर राजनैतिक दबाववश रोड की चौडाई कम कर वहां के अतिक्रमणकर्ताओं के मकानों को बचाया गया है जबकि वहां पर पी.डब्ल्यु.डी. की १२० फीट की रोड है। वहीं इसके विपरित २२ मीटर ईदगाह से खाचरौद नाके रोड तक का निर्माण काय किया जा रहा है। इस रोड की ३ बार नपती का अलग-अलग निशान लगा है पहले रोड के सेंटर से ९.२५ मीटर, उसके बाद ९.५० तथा उसके बाद ११ मीटर कर दी गई और  रोड की चौडाई कुल २२ मीटर कर दी गई है। वहां के लोगों के बिना नोटिस दिए गरीबों के मकान तोड दिए गए है।
नोटीस के बावजुद महिदपुर रोड पर प्रभावशाली लोगों के अतिक्रमण नहीं तोडे
महिदपुर रोड के जो प्रभावशाली व आर्थिक रूप से सक्षम अतिक्रमणकर्ता है उनके अतिक्रमण को नहीं तोडते हुए रोड की चौडाई ही कम कर दी गई है और चंबल मार्ग के मकानों को तोडा जा रहा है। इस प्रकार उनके साथ भेदभाव करते हुए पक्षपात किया जा रहा है। क्षैत्रवासियों ने अनुरोध किया है कि महिदपुर रोड अनुसार ही ईदगाह से खाचरौद नाका तक बन रही रोड की चौडाई रखी जाये।

महिदपुर रोड की सडक बनी और चंबल मार्ग खोद डाला

रहवासियों का कहना है कि पहले महिदपुर रोड से बस स्टेण्ड तक के रोड का निर्माण कार्य पूर्ण किया जाये उसके पश्चात उसी रोड के अनुसार ईदगाह से खाचरौद नांका रोड की चौडाई ली जाए यदि इस प्रकार से रोड निर्माण किया जाता है तो हम स्वेच्छा से हमारे मकान तोड लेगें। लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों द्वारा महिदपुर रोड से बस स्टेण्ड तक निर्माण कार्य प्रगति पर है उसको बीच में छोडते हुए ईदगाह रोड के जो मकानों को बगैर नोटिस दिए जो तोडने की कार्यवाही की जा रही है जबकि महिदपुर रोड से बस स्टेण्ड तक रोड के लिए अतिक्रमणकर्ताओं को नोटिस भी दिए गए थे उसके बावजुद भी उनके अतिक्रमण को नहीं तोडा गया है और रोड की चौडाई कम करते हुए निर्माण कार्य कर दिया गया है। अधिकारियों की ऐसी मंशा है कि पहले ईदगाह से खाचरौद नाकां तक के मकानों को तोड दिया जाये और महिदपुर रोड से बस स्टेण्ड तक के अतिक्रमणकर्ताओं को बचाया जा सके ताकि इनके विरोध का कोई औचित्य न रह जाये।

नाईंसाफी के खिलाफ इन्होंने की आवाज बुलंद

इस अवसर पर पार्षद शंकर प्रजापत (पप्पु) के नेतृत्व में क्षैत्र के रहवासी नसरूद्दीन, वहिद खां, फारूख हुसैन शाह, मुश्ताक अहमद, हमीद, जमील भाई, सलीम शाह, मुबारिक शाह, प्रकाश, अय्युब खांन,   जाकीर हुसैन, नाजिम, ओमप्रकाश प्रजापत, फारूख हुसैन, तोसीफ हुसैन, मकबुल शाह, बबलु सेन, मंजुर आदि क्षैत्रवासी उपस्थित थे। मामले में लोक निर्माण विभाग के इंजीनियर अरूण दुबे से चर्चा की गई तो उन्होंने इस संबंध में कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। एसडीओ श्री अहिरवार का चलायमान फोन लगा ही नहीं।

इनका कहना है

लोक निर्माण विभाग द्वारा उत्कृष्ट सडक के निर्माण में भेदभाव किया जा रहा है। चंबल मार्ग पर बनने वाली सडक पर २२ मीटर तक निशान लगा कर मकानों को तोडने की धमकी विभाग के अधिकारियों ने दी, जबकि महिदपुर रोड का निर्माण १९ मीटर ही किया गया है। चंबल मार्ग पर किसी भी व्यक्ति को नोटीस नहीं दिये गये हैं, बिना नोटीस दिये ही गरीबों के आशियाने तोडे जाने का पुरजोर विरोध किया जावेगा।