उन्हेल मे कृष्ण ने रुक्मणी का थामा हाथ

उन्हेल मे कृष्ण ने रुक्मणी का थामा हाथ

219
SHARE
Unhel | mpnews24 |rahul gehlot |भक्ति ज्ञान एवं सर्मपण से आत्मा परमात्मा से तुरंत मिलन हो जाता है शरीर का स्वामी सांसरिक पति है लेकिन रुकमणी जैसी भक्ति ज्ञान समपर्ण करने वाली आत्मा का पति परमात्मा होता है उक्त उद्गार मेढ क्षत्रिय स्वर्णकार समाज द्धारा संगीतमय कथा के दौरान छठे दिन पण्डित संतोष षास्त्री ने रुकमणी विवाह प्रंसग मे कही इसके साथ धुम धाम के साथ रुकमणी विवाह समपन्न करवाया। शुक्रवार को कथा के समापन पर दोपहर तीन बजे शोभायात्रा नगर के प्रमुख मार्गो से निकाला जायेगा। आज की कथा के लाभार्थी राजकुमार सोनी, राहुल सोनी, रोहित सोनी परिवार ने लिया। उक्त जानकारी सतीष सोनी ने दी।