किन्नरों की जिदंगी में एक अनूठी परम्परा , एक अटूट रिश्ते को...

किन्नरों की जिदंगी में एक अनूठी परम्परा , एक अटूट रिश्ते को बयां करती यह कहानी

868
SHARE

Nagda mpnews24। अपनी एक अलग दुनिया और उसमे मौज -मस्ती से जिदंगी गुजारने वाली किन्नर बिरादरी। इन की आवाज एवं ढोल-ढमाकों की थाप पर भला कौन नहीं चौकता है। इन सब खुबियों के अलावा गुरु -शिष्य के बीच अटूट सम्मान का क्या  रिश्ता होता है, यह भी इनके जीवन की एक विशेषता है। एक मामला हाल में जब थाना नागदा में एक किन्नर के खिलाफ प्रकरण दर्ज हुआ तो यह एक नई खूबी इनकी जिदंगी की सामने आई।

अपने नाम के साथ गुरू को सम्मान

देश में आम लोगों में यह प्रचलन है कि पुरूष अपने नाम के आगे पिता का तथा महिलाएं पिता या पति का नाम लिखा करती है। थाना नागदा जिला उज्जैन में एक किन्न्नर मीनाबाई के साथ मारपीट का जब प्रकरण दर्ज हुआ तो उसने पिता या पति के नाम के कालम में अपने गुरू गीताबाई का नाम दर्ज कराया। बताया वे दस्तावेजों में अपने गुरू का नाम ही लिखते हैं।थाना नागदा मेंं मारपीट का एक प्रकरण  दर्ज हुआ था। जिसमे फरियादी एक किन्नर मीनाबाई है। जिसने अपने नाम के आगे पिता या पति के कालम में गुरू गीताबाई का नाम लिखाया है।