सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका पर सरकार से मांगा गया जवाब,इधर कालाधन खपाने वालों के मंसूबोंं पर फिर पानी फिरा

0
295

Nagda mpnews24। कालाधन के खिलाफ मोदी के बम धमाकों के बाद काले धन को खपाने के लिए गली तलाश रहे लोगों के मंसुबों पर एक बार फिर पानी फिर गया। जैसा की कयास लगाया जा रहा है कि भारत सरकार की योजना के तहत खोले गए जनधन खातों में कुछ प्रलोभन देकर लोग अपपनी कला कमाई को खपा सकते है, लेकिन सरकार ने इस गली की भी अब नाके बंदी कर दी है। जनधन योजना में अब ऐसा नहीं हो सकेगा। इस रास्ते का उपयोग भी अब काली कमाई करने वाले नहीं कर पाएंगे। इस फार्मूले  का उपयोग करने की तैयारी चल ही रही थीकि सरकार ने अब इस संभावना पर भी रोक लगा दी है। जनधन योजना पर भी निगरानी रखी जाएगी। इस पर अधिकतम सीमा 50 हजार की गई है।

काली स्याही का अब लगाएंगे अंगूली पर

बैंकों के बाहर नोटों को बदलवाने के लिए जो भीड़ लग रही है, उस को कम करने के लिए भी एक कदम भी उठाया गया है। अब जो भी एक बार कतार में लग कर नोट परिवर्तन कराएंगा उसकी अंगूली पर काली स्याही लगाई जाएगी। जिससे कोई भी व्यकित बार-बार कतार में लगकर राशि नहीं लगा सकेगा। अभी तक एक से अधिका बार तक लोग कतार में लग रहे थे। अथवा प्रभावी लोग अपने रूतबे का भी उपयोग कर रहे थे। हालांकि एक बार स्याही लगाने के कितने दिनों बाद दूसरी बार कोई बैंक में जा सकेगा इस बार में सरकार पूरी योजना बना रही है।

सरकार को 30 नवंबर तक देना जवाब

देश में 500 एवं 1000 के नोटों पर लगी पांबदी को लेकर सु्रपीम कोर्ट में जो याचिका लगी है, उस पर कार्रवाई शुरू हो गई है। सरकार को अब 30 नवंबर तक अपना जवाब कोर्ट में पेश करना है।

करंट अकाउंट में यह है व्यवस्था

करंट अकाउंट में राशि जमा करने को लेकर कई प्रकार की भ्रांतिया सामने आ रही है। हकीकत यह है कि इस अकाउंट में यह फार्मूला  है कि1अप्रेल तक बैलेस सीट में जो केस इन हैंड है तथाउसके बाद 8 नवंबर तक नकद व्यवहार द्धारा वसुली गई राशि जो आपकी फर्म के माध्यम से  वसूली गई उतनी राशि तक जमा कर सकते है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY