नागदा में एक नई पहल- उनके हाथों में मेहंदी ऐसी रचाई की कला मुंह बोलने लगी, छात्राओं की कला चढी परवान

0
345


Nagda | Mpnews 24।
नागदा में एक नई पहले मंगलवार को हुई। वहां महिलाओं का जमघट था। हाथों में मेहंदी रचाने के लिए बड़ी होड़ सी मची थी। मेहदी की खूशबू से परिसर महक रहा था। इधर, छात्राओं ने अपनी कला का अनूठा परिचय दिया। यह बताने का प्रयास किया कि शिक्षा के साथ-साथ वे कला की विधा में भी पारंगत है। यह सब कुछ आदित्य विद्या मंदिर हायर सेकेडरी स्कूल नागदा में हुआ।

nagda-adityaकला की विधा का होता है विकास

स्कूल संचालक कमलेश जाससवाल का तर्क है कि विधार्थियों में शिक्षा के अलावा अन्य रचनतात्क गतिविधियों से व्यक्तित्व विकास होता है। इसीलिए करवा चौथ के मद़देनजर पहली बार यह प्रयोग किया गया। स्कूल की छात्रों ने महिलाओं के हाथों में मेहंदी सजाई। इस मामले में छात्राओं को प्रशिक्षण भी इसलिए दिया कि कला उनके जीवन का एक अभिन्न अंग बने।

800 से अधिक महिलाओं ने भाग लिया

विद्यालय में आई सभी महिलाओं को स्वल्पहार भी कराया गया। कार्यक्रम में विद्यार्थियों द्वारा नृत्य भी प्रस्तुत किए । स्कूल में विधार्थियों के अभिभावको का आमंत्रित किया गया था।

इनकी मेहनत ने दिखाया सफलता का करिश्मा

इस अवसर पर डायरेक्टर  प्रीति कमलेश जायसवाल,  प्राचार्या अनुराधा कपूर, शिक्षिका पूनम प्रधान, संगीता देशमुख, नीता पोरवाल, संगीता चोहान, गीता सेन, सविता पोरवाल, दीपरेणु गौड़, ज्योति दवे, वंदना शर्मा, ज्योति शुक्ला, यास्मिन शेख, दीपिका शर्मा, रजनी प्रजापत, सुमन मोदी, मोहिनी जोशी, ममता शिकारी, नाजमिन शेख, शबनम शेख, मधु यादव, नरेंद्र सुयल, जितेंद्र अग्रवाल, दिनेश मीणा, रविंद्र चौहान, हेमंत सूर्यवंशी, नीरज सोनी आदि ने योगदान किया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY