नागदा के नेताओं को मिला जनता की सेवा का एक अनूठा काम

0
242

dilip gurjarNagda | Mpnews 24 । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक नीति बड़े नोटों के प्रचलन की पांबंदी ने नागदा के पक्ष-एवं विपक्ष दोनों ही पार्टियों के नेताओं को जनता की सेवा करने का एक अनूठा मौका मिल गया। बैंक में नोटों के आदान-प्रदान के लिए जैसे ही भीड़ उमडऩे लगी नेताओं को जनता की तकलीफ़ याद आई। इतना ही नहीं एक-दूसरे के खिलाफ आरोप- प्रत्यारोप का मौका भी मिल गया। ऐसे तीन किस्से सामने आए है, जहां जनता की सेवा करने नेता लोग पहुुंचे।

प्रदेश नेता भीड़ में पहुंचे जाने हाल

पूर्व विधायक एवं प्रदेश कांग्रेस महासचिव दिलीपसिंह गुर्जर ने भारतीय स्टेट बैंक नागदा में ४००० रूपये के नोट एक्चेंज एक घंटे लाईन में लगकर कराये तथा आम जनता की वर्तमान दुख, तकलीफों को समझा तथा लाईन में लगे नागरिकों से अचानक ५०० व १००० के नोट बंद करने पर आ रही उनकी परेशानियों को जाना।

basant malpaniजनता की प्यास बुझाइ्र्र

किसान कांग्रेस प्रदेश महामंत्री बसंत मालपानी के नेतृत्व में युवा कांग्रेसियों ने बैंको में जाकर पानी के पाउच लाइन में खडे नागरिको को वितरीत किये एवं उनको आ रही परेशानियों को लेकर बैंक प्रबंधको से चर्चा भी ।चाहिए। इस अवसर पर युवा कांगे्रेस विधानसभा उपाध्यक्ष कमल आर्य, युवा कांग्रेस लोकसभा महासचिव रामकिशोर भाटी, जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष अशोक परांजपे, विरेन्द्र मालपानी, हितेन्द्र शुक्ला, ईश्वर आंजना, अनिकेत पांचाल, जिला कांग्रेस संयुक्त सचिव छगन भनोपिया, मुकेश चांगरे, आदि उपस्थित थे।

कांग्रेस ने भाजपा पर उठाए सवाल

कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष अनोखीलाल सोलंकी ने जारी प्रेस बयान में कहा कि आम जनता अपने काम धंधे छोडकर नोट बदलवाने के लिए लाईन में लग कर परेशान हो रही है और अपना समय बर्बाद कर रही है और विधायक खडे होकर नोट बांट रहे है। आखिर इनके पास इतने नोट पहले कहां से आ गए। नेता ने सवाल उठाया कि क्या भाजपा के नेताओं को आर.बी.आई. से खुल्ले नोट बांटने हेतु अधिकृत किया है? इस बात को सार्वजनिक करें जिससे आम जन आपके घर आकर खुल्ले नोट करा जाये ? खुले नोट बांटने का भ्रामक प्रचार करके गरीबों की भीड एकत्रित की गई है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY