नागदा

नागदा के बहुचर्चित मामले मे अब मोड़ -व्यापारियों ने प्रशासन को लिया आड़े हाथों, रैली के साथ दिया ज्ञापन

nagda | Mpnews 24। प्रकाश नगर में हुए बहुचर्चित विवाद में अब मामला एक नए मोड़ पर आ गया। व्यापारियों ने एक मुद्दा उठाया है। गुरूवार को एक ज्ञापन के माध्यम से यह बात उठाई है कि इस प्रकरण में पोलीस प्रशासन ने एक  तरफ़ा कार्रवाई की है। व्यापारीगएा एक रेली को लेकर पुलिस थाना पहुंचे थे। व्यापारीयो का कहना हैं कि प्रशासन ने उक्त घटनाक्रम में एक पक्षीय कार्यवाही कर विहिप के भेरूलाल टाक व अन्य लोगो के विरूद्ध बिना किसी जांच के पहले ही गंभीर धाराओ में प्रकरण दर्ज किया हैं | जो अनुचित है| आनन- फानन में एक पक्षीय कार्यवाही करते हुए निर्दोष लोगो पर गंभीर धाराओ में प्रकरण दर्ज कर प्रशासन ने दोहरे मापदण्ड का परिचय दिया हैं।

पहले करना थी जांच

प्रशासन को संपूर्ण मामले की जांच कर ही उचित कार्यवाही करनी थी। किंतु प्रशासन ने उचित कार्यवाही नहीं की और कार्यवाही को बेकसूर लोगो के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया हैं। जिसका वह पूरजोर तरीके से विरोध करते हैं।

रैली लेकर पहुंचे थाने

व्यापारीयो ने रैली के रूप में पुलिस थाने पहॅुचे थे जहॉ उन्होने थाना प्रभारी को नगर पुलिस अधिक्षक के नाम एक ज्ञापन सौपा हैं। व्यापारीयो ने तत्काल प्रकरण वापस लेने की मांग की हैं साथ ही इस बात की चेतावनी दी हैं कि अगर झुठे प्रकरण वापस नहीं लिये गये तो मजबूरन समस्त व्यापारी संगठन को श्री टाक के समर्थन में आंदोलन करने को बाध्य होना पड़ेगा।

ये थे ज्ञापन के समय

किराना व्यापारी संघ, नागदा व्यापारी संघ, जनरल स्टोर स्टेश्नरी एसोसिएशन, ज्वेलर्स एसोसिएशन, कपडा एसोसिएशन, फोटोकॉपी एसोसिएशन, दुग्धसंघ, मोबाईल एसोसिएशन सहित 17 संगठन के पदाधिकारी उपस्थित थे। ज्ञापन का वाचन दिलीप कांठेड ने किया। घनश्याम राठी, देवेन्द्र सेन, कमलेश नागदा, उमेश अग्रवाल, गोविन्दलाल मोहता, पंकज अग्रवाल, दिलीप कांठेड, राजेन्द्र छिपानी, राजेश गगरानी, मनीष पोरवाल, सुरेश जायसवाल,नीतिन पोरवाल, द्वारका प्रसाद पोरवाल आदि मौजूद थे।