नागदा

नागदा-किसान संघ घेरेगा सरकार व सांसदों को , संसद में तीन दिनों तक चर्चा हो

Nagda | mpnews 24 | नागदा-संसद में छोटी-छोटी बातों को लकेर समय व्यर्थ होता है और किसानों की मांगों को लेकर आजादी के बाद से न तो सरकार चिंता करती है, ओर न ही चुने हुए सांसद । जबकि देश  कृषि आधारित है। किसानों की समस्याओं से अवगत नही होने से न तो सरकार किसानो के लिये सही दिशा में प्रयास कर पा रही है। और ना ही सांसद दंबगता से किसानों की मांग उठा पा रहे है। इसी को दृष्टिगत रखते हुए भारतीय किसान संघ ने किसानों की समस्याओं का विस्तुत मांग  बनाया है। और इन समस्याओं पर संसद के सत्न में 3 दिन का समय निधारित करने की मांग की है। इसके समर्थन में किसानों द्वारा हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया ।

यह हुई बैठक

बुधवार को किसान संघ की एक महत्वपूर्ण बैठक पाल्यारोड़ स्थित यशवंत आर्य की बावड़ी पर आयोजित की गई। बैठक में भारतीय किसान संघ उपाध्यक्ष बहादुरसिंह आंजना, उदयसिंह आंजना, सेवारा आंजना उपस्थित थे। सभी ने अपने उद्बोधन में कहा की भारत एक कृषि प्रधान देश है। भारत के 67 प्रतिशत लोग कृषि पर आधारित है, सबसे अधिक रोजगार देने वाला भी यही क्षेत्र है। मप्र किसान आगामी 25 दिसंबर से 8 जनवरी तक हस्ताक्षर अभियान चलाकर केंद्र तथा राज्य सरकार से मांग करेंगे की किसान तथा किसानों के लिए कम से कम तीन दिन तक उक्त विषय पर सदन में चर्चा करे।

ये थे उपस्थित

बैठक में तहसील अध्यक्ष कालूसिंह तंवर, खाचरौद तहसील अध्यक्ष चंद्रभानसिंह नरूका, यशवंत आर्य, नागेश्वर शर्मा, बालूसिंह सिसोदिया, कृष्णपालसिंह डोडिया, रामचंद्र सोलंकी, रामरतन, मांगूलाल, नागुसिंह आंजना, भारतसिंह पंवार, प्रकाश राठौर आदि उपस्थित थे।