नागदा-नोटबंदी से हुई परेशानी को लेकर प्रधानमंत्री के फोटो के समक्ष जनता ने अपनी पीढा उजागर की

0
273

Nagda|Mpnews24|प्रदेश कांग्रेस के निर्देशानुसार ब्लॉक कांग्रेस द्वारा ब्लॉक स्तरीय जनवेदना पंचायत का आयोजन ग्राम आक्याजागीर में म.प्र. कांग्रेस महासचिव दिलीपसिंह गुर्जर के नेतृत्व में आयोजित किया गया। जिसमें प्रतिकात्मक प्रधानमंत्री के फोटो के समक्ष जनता ने अपनी पीढा उजागर की।

नोटबंदी से हर कोई हुआ परेशान

सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए श्री गुर्जर ने कहा कि नोटबंदी से आज देश सहित सम्पूर्ण प्रदेश का किसान, मजदुर, व्यापारी अत्यधिक परेशान हो चुका है। नोटबंदी का सबसे अधिक असर किसानों व मजदुरों पर पडा है। जिसके कारण किसानों की आर्थिक कमर टुट गयी है। किसानों को अपनी फसल का लागत मुल्य भी नहीं मिल पा रहा है तथा किसानों को अपनी उपज के भुगतान के चैक का क्लियरेंस महिनों तक नहीं हो पा रहा है जिसके कारण किसान कर्ज में डुब रहे है नगद पैसा नहीं होने के कारण खेतीहर मजदुरों को भी अधिकांश समय मजदुरी नहीं मिल पा रही है। अधिकांश किसानों को अभी तक बीमा राशी भी उपलब्ध नहीं हो पायी है और मुआवजा वितरण में भी किसानों के साथ भेदभाव किया जा रहा है। किसानों को पैसा नहीं होने के कारण उनके द्वारा बिजली बील नहीं भर पाने के कारण एमपीईबी द्वारा लगातार उनके संसाधन जप्त कर रही है तथा उनको जेल तक भेजने की कार्यवाही प्रशासन द्वारा की जा रही है। नदंराम चन्द्रवंशी, भारत पाटीदार, दुलेसिंह, राधेश्याम सोलंकी, नरसिंह गुर्जर आदि ने नोटबंदी के कारण विभिन्न प्रकार की निर्मित परेशानियों को बताया।

इन्होने भी किया सम्बोधित

ब्लॉक अध्यक्ष अनोखीलाल सोलंकी, प्रदेश किसान कांग्रेस उपाध्यक्ष गोविंद भरावा, विजय चौहान, सुरेन्द्रसिंह गुर्जर मोकडी, जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष निशा चौहान, जिपं सदस्य बापुलाल डाबी, राधे जायसवाल, रईस पटेल, पूर्व पार्षद नारायण मण्डावलिया, राजेन्द्रंिसह गुर्जर, रवि शर्मा आदि ने सम्बोधित किया। कार्यक्रम का संचालन हिरालाल सगीत्रा ने किया। आभार पूर्व जपं सदस्य समरथ धाकड ने माना।

ये थे मौजूद

जगदीश नंदेडा, पुष्कर संगीत्रा, अनिल सोनी, सरदार पटेल, घासीराम सोलंकी, विपीन धाकड, अर्जुन पहलवान, बद्रीलाल चन्द्रवंशी, शाहरूख खांन, प्रकाश डाबी, सत्यनारायण पाटीदार सरपंच, गोपाल मकवाना, बद्रीलाल बम्बोरिया, कैलाश कासनिया, बद्रीलाल नंदेडा, नंदराम, सीताराम धकडोलिया, दुर्गालाल मदारिया, सतीश चोडीया आदि मौजूद थे।

यह कहा था श्री मोदी ने

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहां था कि मुझे 50 दिन दो, 50 दिन बाद देश की दशा व दिशा दोनों बदल दुॅंगा नहीं तो जनता जो चाहे जिस चौराहे पर मुझे बुलाकर जो चाहे वो सजा दे सकती है। 100 दिन बाद भी स्थिति बद से बदहाल है और जिस उद्देश्य को लेकर नोटबंदी की घोषणा की गई थी उस उद्देश्य में भी सरकार फेल हो गयी है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY