नागदा के एक बड़े नेता ने केजरीवाल की हिम्मत की तरफ किया...

नागदा के एक बड़े नेता ने केजरीवाल की हिम्मत की तरफ किया ईशारा, शिवराज को दिखाया सच का आईना

478
SHARE

vijaysingh _raghuwanshiNagda mpnews24| औधोगिक नगर नागदा किसी जमाने में आंदोलन के नाम पर बड़ा मशहूर था, इस मामले की तासिर अब फीकी पड़ गई। अब तो यहां औधोगिक परिवेश में मुर्दाबाद जिंदाबाद के नारे यदाकदा भी नहीं गूंजते। हाल में सुप्रीम कोर्ट के आदेश ने मजदूर सियासत में खलबली मचा  दी है। यदि इस आदेश का पालन हो जाए तो नागदा शहर के हजारों मजदूरों में खुशहाली आजाए। जो आदेश सुप्रीम कोर्ट ने दिया उसको दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने लागू करने की हिम्मत दिखाई है।

इन्होंने  शिवराज को बताया अरविंद का नाम

श्रम संगठन इंटक की राष्टीय कार्यकारिणी के सदस्य विजयसिंह रघुवंशी ने मजदूरों के हित में बड़ी मांग उठाई है। उन्होंने शिवराज को एक खत भेजा है। जिसमें बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने एक आदेश दिया है कि स्थायी कर्मचारियों की तरह अस्थायी कर्मचारियों को लाभ मिलना चाहिए। इस आदेश का जब दिल्ली सरकार ने मान लिया तो अब मप्र की सरकार क्यो मुुंह मोड़ रही है।

इस प्रकार सीएम को चिट्टी

शिवराजसिंह को भेजी चिट्ठी में बताया गया| कि समान कार्य समान वेतन निर्णय मप मे लागू करने  मे क्यो देरी हो रही है। अरविंद सरकार ने तो निगम कर्मचारियों पर यह लागू करने की घोषणा की है। उन कर्मचारियों पर जो कई बरसों से अस्थायी काम कर रहे थे। दिल्ली कैबिनेट ने ठेका कर्मचारियों को नियमित करने का प्रस्ताव सभी विभागों से मांगा है। ठेका मजदूरों से स्थायी स्वभाव का जो कार्य करवाया जा रहा है, उनके लिए भी वहां खुश खबर है। जिन ठेका कर्मचारियों से स्थायी नेचर का कार्य कराया जा रहा है उनको भी लाभ मिलेगा। राष्टीय नेता रघुवंशी ने प्रदेश के सभी उद्वोगों में एवं नगरनिगम आदि में कार्यरत कर्मचारियों को यह सुविधा देने की मांग की है।