Featured नागदा

नागदा- आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं ने उज्जैन में किया प्रदर्शन

Nagda|Mpnews24| भारतीय मजदूर संघ से संबंधित उज्जैन संभागीय आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं सहायिका संघ इकाई नागदा के बैनरतले रविवार को बड़ी संख्या में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका ने कोठी पैलेस उज्जैन पहुचंकर कलेक्टर कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया। यहां सभी आंदोलनकारी महिलाओं ने हाथ पर काली पट्टी बांध रखी थी ,वहीं प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली को कोस रही थी। उक्त आंदोलन का नेतृत्व आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं सहायिका संघ (बीएमएस )के संयोजक रामलाल पण्ड्या कर रहे थे साथ में संगीता पण्ड्या, निर्मला गोस्वामी, सविता जीनवाल, जिला अध्यक्ष धापूबाई , गायंत्री शर्मा ,सुनीता विश्वकर्मा आदि प्रमुख रूप से मौजूद थी। यहां मुख्यमंत्री के नाम उक्त सभी ने एक ज्ञापन भी सौपा है।

इन मांगो का किया उल्लेख

मुख्यमंत्री के नाम जिलाधिक्ष को दिए गए ज्ञापन में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं ने अपनी विभिन्न मांगो से अवगत कराते हुए जिन विषय को उठाया है उनमें आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं को शासकीय कर्मचारी घोषित किया जाए , 60 वर्ष पूर्ण होने पर सेवा समाप्ति पर कार्यकर्ताओं को एक लाख रूपए व सहायिकाओं को 50 हजार रूपए भरण पोषण के लिए राशि प्रदान की जाए , तथा सेवा समाप्ति की उम्र 62 वर्ष अन्य विभागों की तरह की जाए। सभी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को जीपी एवं जपीएफ कर्मचारी राज्य बीमा योजना से जोड़े जाने की मांग भी की गई। तथा अन्य मजदूरों की भाती 60 वर्ष सेवा समाप्ति पर पीएफ से इनको राशि एक मुस्त मिलेगी ,इसलिए शासन से मांग करते हुए इनके मानदेय में भी पीएफ काटने तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता जब तक शासकीय कर्मचारी घोषित नहीं होती है तब तक कार्यकर्ताओं को न्युनतम राशि मासिक 12 हजार रूपए एवं सहायिकाओं को 6 हजार रूपए मानदेय दिए जाने की मांग के अलावा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं को राष्ट्रीय त्यौहारो का शासकीय अवकाश घोषित करे।