अच्छी खबर – नागदा को नवीन अस्पताल भवन की मिली सौगात

0
172

Nagda|Mpnews24| दिलीप शेखावत ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि विगत कई वर्षो से नागदा की आमजन के द्वारा यह मांग उठाई जा रही थी कि नागदा अस्पताल का भवन 1960 में बनाया गया था। यहां अस्पताल की शुरूआत डिस्पेन्सरी के रूप में हुई थी तथा समय समय पर इसका विस्तार भी हुआ। नागदा शहर एक प्रसिद्ध औद्योगिक शहर है यहां एशिया का सबसे बड़ा फायवर उत्पादान होता है । यहां अन्य उद्योग भी स्थापित है यह जिले का सबसे बड़ा दूसरा शहर है । इन सारे बिन्दुओं को ध्यान में रखकर मेरे द्वारा माननीय मुख्यमंत्री एवं विभाग के मंत्री का ध्यान आकर्षित कर मांग की जाती रही है साथ ही विभाग के प्रमुख सचिव गौरी सिंह पूर्व में नागदा प्रवास पर आयी थी । उस दौरान मेने भवन के उन्नयन की मांग की थी । इसी को लेकर विधानसभा में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की मांगों के समर्थन में बोलते हुए मैंने मंत्री से नागदा शहर में सिविल अस्पताल भवन के उन्नयन की मांग की थी साथ ही नागदा खाचरौद में महिला डॉक्टर एवं अन्य डॉक्टरों की भी मांग रखी थी । जिस पर स्वास्थ्य मंत्री ने उज्जैन जिले के नागदा सिविल अस्पताल के नवीन भवन उन्नयन की घोषणा की है । इसके अलावा प्रमुख सचिव से चर्चा करने पर उन्होने बताया कि 700 से अधिक डॉक्टरों की परीक्षा होने के बाद जल्द ही विभाग को चिकित्सक उपलब्ध होगे। उसमें से नागदा और खाचरोद को और डॉक्टरों की सुविधा उपलब्ध होगी इस बात का आश्वासन दिया गया है।
शेखावत ने बताया है कि नागदा-खाचरोद विधानसभा में स्वास्थ्य सेवायें बेहत्तर हो इसके लिये खाचरोद में 6 करोड़ से अधिक की राशि से नवीन भवन का कार्य प्रारंभ कराया है साथ ही चापाखेड़ा में 50.00 लाख से अधिक की राशि से नवीन भवन बनकर लोकार्पित हो गया है । विगत 15 दिन पूर्व बेरछा एवं घिनोैदा में 35-35 लाख की राशि आयुष भवन हेतु स्वीकृत हो गई है जिनके टेण्डर भी लग चुके है । बिड़ला ग्राम क्षेत्र में श्रमिकों की सुविधा हेतु रामलीला मैदान में मिनी अस्पताल प्रारंभ किया है ।

यह सौगाते भी मिली है

नागदा में रिंग रोड, उत्कर्ष सडक़े, बस स्टेण्ड, स्टेडियम, आई.टी.आई., ए.डी.जे. कोर्ट, कृषि उपज मंडी, रतलाम फाटक ओव्हर ब्रिज, नागदा नायन की पुलिया ऐसी अनेक सौगाते भाजपा की सरकार ने नागदा नगर को मिली है। इन सभी कार्यो हेतु माननीय मुख्यमंत्री , स्वास्थ्य मंत्री , केन्द्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत एवं सांसद चिंतामणी मालवीय का आभार माना है ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY