Featured नागदा

नागदा-वर्षा ऋतु प्रारंभ अलसुबह हुई बारिश ,किसान बोवनी के लिए तैयार

Nagda|Mpnews24| गुरूवार की सुबह से वर्षा ऋतु प्रारंभ हो गई है। प्रारंभ के प्रथम दिन ही अलसुबह काफी देर तक गर्जना के साथ झमाझम बारिश ने अंचल को तरबतर कर दिया। साथ ही बारिश ने व्यवस्थाओं की भी पोल खोल कर रख दी है। हांलाकि दोपहर बाद से आसमान पूरी तरह से साफ नजर आ रहा था तथा उमस भी अपना असर दिखाने लगी थी। वैसे वर्षा ऋतु के प्रारंभ होने से किसान खेतों में बोवनी की तैयारियों में जुटने वाले है। मान्यता है कि मृगसर नक्षत्र समाप्त होने व भ्रादा नक्षत्र प्रारंभ होते ही वर्षा ऋतु प्रारंभ मानी जाती है तथा वृध्द किसानों का भी यहीं कहना है कि भ्रदसर के आखिरी दिनों में वर्षा हो जाती है तो इसका खरीफ की फसल का उत्पादन अच्छा रहता है। मृगसर नक्षत्र के खत्म होते ही बारिश का क्रम शुरू होना माना जा रहा है। अब किसान अपने खेतों में बोवनी की प्रकिया को अंजाम देने वाले है तथा किसानों ने खेतों को तैयार कर खाद बीज की व्यवस्था भी पहले से कर रखी थी।
कुछ देर के लिए गुरूवार की अलसुबह हुई तेज बारिश ने शहर में ठंडक घोल दी थी तथा नागरिकों ने भी उठने वाली उमस से राहत ली थी तथा यह कयास लगाया था कि आज सारे दिन बारिश होगी। परंतु दोपहर तक आसमान पूरी तरह से साफ हो गया था। जिसके चलते उमस एक बार फिर उठने लगी। वैसे कुछ देर के लिए हुई बारिश के कारण शहर की कई प्रमुख सडक़े जो जर्जर अव्यवस्था में है वहां पानी का जमाव हो गया था। वैसे वर्षा ऋतु के प्रारंभ होने से आगामी दिनों में झमाझम बारिश होने की उम्मीद किसान लगाए बैठे है।

इस बार भी होगी 80 प्रतिशत सोयाबीन की बोवनी

भले ही किसानों को सोयाबीन के उचित दाम नहीं मिल पा रहे है परंतु किसान अभी भी अपने खेतों में सोयाबीन की फसल बोवने को लेकर ही अग्रसर है तथा अंचल में इस बार भी 80 प्रतिशत भूमि पर सोयाबीन की खेती किसानों के द्वारा की जाएगी। शेष 20 प्रतिशत पर भले ही उडत, तुअर ,मुंगफली व मक्का बोई जाएगी परंतु अधिकतर किसानों का रूझान सोयाबीन की खेती पर है।