नागदा-जवाहर मार्ग पर विवादित भूमि पर कब्जे को फिर आमने-सामने हुए दो पक्ष ,राजस्व रिकार्ड में शासकीय दर्ज है भूमि

0
383

Nagda|Mpnews24|जवाहर मार्ग पर शेषशायी कॉलेज के समीप स्थित भूमि पर कब्जे का विवाद मंगलवार को एक बार फिर उस समय गहरा गया जब सुबह वहाँ एक पक्ष ने निर्माण कार्य शुरू कर दिया तथा दुसरा उसे रोकने जा पहुँचा। सुबह दोनों पक्षों के आमने-सामने हो जाने के बाद पुलिस को मौके पर पहुँचना पडा बाद में दोनों पक्षों ने एक दुसरे के खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। आश्चर्य की बात यह है कि जिस सर्वे क्रमांक ४५०/१९ की भूमि को लेकर यहाँ विवाद चल रहा है वह राजस्व रिकार्ड में शासकीय दर्ज होना पाई गई है। दोपहर में एसडीएम के आदेश पर पटवारी व गिरधावर भी मौके पर पहुँचे थे जिन्होंने भूमि पर दावा जताने वाले दोनों पक्षों के साथ मौजुद पुलिस अधिकारियों के सामने स्थिति स्पष्ट करने का प्रयास किया। एक पक्ष दस्तावजों के आधार पर भूमि अपनी बता कर उस पर निर्माण करने की बात पर अडा हुआ था जबकि दुसरे पक्ष का कहना था कि जब भूमि शासकीय है तो कोई भी व्यक्ति किसी भी तरह का निर्माण आखिर मौके पर कर कैसे सकता है। दिन भर चले घटनाक्रम के बीच शाम को नगर पालिका ने विवादित भूमि पर बने भवन की दिवार पर नोटीस चस्पा कर दिये थे जिसमें भूमि को शासकीय होने की बात दर्शाते हुए वहाँ किसी तरह का निर्माण न करने की हिदायत संबंधितों को दी गयी थी। निर्माण करने वाले पक्ष को जब इस बात का पता चला तो उसने भवन की दिवार पर चस्पा किये गये नोटीस को फाड कर फेंक दिया।

क्या है मामला

जिस भूमि पर कब्जे को लेकर विवाद चल रहा है उस पर दिनेश भारतीय तथा जगदीशसिंह शेखावत दोनों ने अपना-अपना दावा जताया है। दोनों ही व्यक्ति भूमि की रजिस्ट्री व दस्तावेज उनके पास होने की बात कह रहे हैं। विवाद के दौरान जब मिडियाकर्मी मौके पर पहुँचे तो उन्हें वह दस्तावेज देखने को नहीं मिले जो उक्त भूमि पर किसी के काबिज होने की बात को दर्शाते हैं। विवाद बढने पर एसडीएम ने दोपहर में विभाग के कर्मचारियों को मौके पर रिकार्ड लेकर भेजा था। पुलिस अधिकारियों की मौजुदगी में कर्मचारियों ने रिकार्ड के साथ-साथ नक्क्षे आदि का अवलोकन दोनों पक्षों को करवाया। यहाँ खास बात यह भी रही की पटवारी के पास मौजुद राजस्व विभाग के रिकार्ड में उक्त सर्वे नम्बर की भूमि शासकीय होना दर्ज पायी गयी है। इस मामले में तीसरे पक्ष के रूप में नगर पालिका ने भी भूमि को अपना बताते हुए वहाँ किसी भी तरह का निर्माण किसी व्यक्ति द्वारा किये जाने पर कार्रवाई की चेतावनी दी है। इसी से जुडे नोटीस शाम को नपा कर्मचारियों ने भूमि पर बने भवन की दीवार पर चस्पा किये थे जिसे भूमि पर दावा करने जताने वाले दिनेश भारतीय ने फाड कर फेंक दिया था। देर शाम तक भूमि से जुडा विवाद चलता रहा लेकिन कोई हल नहीं निकल सका था। नगर पालिका अध्यक्ष अशोक मालवीय ने शाम को इस संबंध में एसडीएम डॉ. रजनीश श्रीवास्तव से चर्चा कर भूमि को लेकर वास्तविकता से उन्हें अवगत कराया था।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY