नागदा-नगर पालिका करायेगी खेल प्रतियोगिताऐं, अनुमती मिलने का दावा

नागदा-नगर पालिका करायेगी खेल प्रतियोगिताऐं, अनुमती मिलने का दावा

130
SHARE

Nagda|Mpnews24|नागदा नगर पालिका परिषद द्वारा शासन की अनुमती का हवाला देते हुए आगामी जून माह में अखिल भारतीय महिला पुरूष कबड्डी प्रतियोगिता के साथ, टेनीसबॉल क्रिकेट प्रतियोगिता कराये जाने की बात नपा उपाध्यक्ष सज्जनसिंह शेखावत ने कही है। दुसरी तरफ हाल ही में कार्यालय संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन ने नगर पालिका को एक पत्र जारी किया है जिसमें तमाम नियमावती का उल्लेख करते हुए यह बात कही गयी है कि नगर पालिका खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन तो करा सकती है लेकिन किसी भी सूरत में भूगतान नगद नहीं किया जा सकता है। पुरस्कार, पारितोशिक का प्रावधान तो नगर पालिका अधिनियम १९६१ में है ही नहीं यह बात संभागीय संयुक्त संचालक सोमनाथ झारिया द्वारा नपा को दिये गये पत्र में कही गयी है। नपा के पदाधिकारी खेल प्रतियोगिताओं के लिए शासन से अनुमती का दावा कर रहे हैं तो पूर्व में हुए आयोजन के बकाया भूगतान संबंधीतों को दिये जाने की मांग भी उठने लगी है।

खेल प्रतियोगिताओं के आयोजन की नपा उपाध्यक्ष ने दी जानकारी

नगर पालिका उपाध्यक्ष सज्जनसिंह शेखावत ने अपने जारी प्रेस बयान में कहा है कि बताया की नपाध्यक्ष के नेतृत्य में एवं केन्द्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत, विधायक दिलीपसिंह शेखावत के मार्ग दर्शन में भव्य अखिल भारतीय महिला एवं पुरूष कब्बड्डी प्रतियोगिता का आयोजन प्रतिवर्ष शहर में कराया जाता है। ख्याति प्राप्त इस आयोजन में कब्बड्ी के अंतराष्ट्ीय खिलाडी एवं प्रशिक्षक प्रतिवर्ष इस आयोजन में भाग लेते है। इस वर्ष यह प्रतियोगिता ११ जून से १४ जून तक आयोजित होगी। कबड्डी प्रतियोगिता के आयोजन के बाद ही क्रिकेट प्रतियोगिता आयोजित किये जाने की तैयारियाँ भी नपा द्वारा आरंभ कर दी गयी है। श्री शेखावत ने बताया कि दोनों वर्गो में जूनियर एवं सीनीयर लगभग ७५-७५ टीमें कुल १५० टीम इस प्रतियोगिता में भाग लेंगी।

संयुक्त संचालक का आया पत्र, पुरस्कारों पर संशय

नववर्ष प्रतिपदा गुडी पडवा मेला आयोजन को लेकर संभागीय संयुक्त संचालक श्री झारिया ने मुनपा अधिकारी नपा नागदा को गत २२ अप्रैल को जो पत्र जारी किया है उसमें नगर पालिका के बजट में आयोजन के खर्च को लेकर किये गये प्रावधान के संबंंध में संयुक्त संचालक का जवाब नपा अधिनियम की धारा व नियमों के साथ स्पष्ट रूप से आया है जिसमें यह भी कहा गया है कि म.प्र. नगर पालिका अधिनियम १९६१ की धारा १२४ में वर्णित कार्यो के लिए नगर पालिका की संपत्ति तथा निधि में से स्वविवेकानुसार पूर्णत: या भागत: कर सकेगी। इस प्रकार के आयोजन में किसी भी तरह के पुरस्कार या पारितोषिक का प्रावधान नपा अधिनियम १९६१ में नहीं है। उन्होंने मुनपा अधिकारी को निर्देशित किया है कि धारा १२४ डड के अनुसार नगर पालिका परिषद ऐसा कोई भी सार्वजनिक स्वागत, समारोह, उत्सव, मनोरंजन या प्रदर्शनी का आयोजन नपा अधिनियम के तहत नियमों के अनुरूप ही कर सकेगी।

खेल प्रतियोगिता नियमों के तहत, तो पूर्व के भूगतान पहले हों

नगर पालिका में सत्तासीन जनप्रतिनिधि इस बात का दावा कर रहे हैं कि संयुक्त संचालक नगरीय विकास एवं पर्यावरण विभाग द्वारा उन्हें आयोजन की अनुमती प्रदान कर दी गयी है। ऐसे में पूर्व प्रतियोगिता में सवाल यह उठता है कि क्या नगर पालिका में बैठे जनप्रतिनिधि पूर्व में हुए आयोजनों के भूगतान नवीन आयोजनों से पूर्व करेंगे। यदि नहीं तो खेल प्रतियोगिताऐं नियमों के तहत कैसे होंगी।

इतने खर्च की ही अनुमती

नपा अधिनियम १९६१ की धारा १२४ की उपधारा में इस बात का स्पष्ट उल्लेख है कि प्रथम वर्ग की नगर पालिका स्वागत पर २५००, समारोह के आयोजन में १५००, मनोरंजन पर २५०० एवं प्रदर्शनी पर अधिकत ५००० की राशि व्यय कर सकती है। इससे अधिक की राशि के व्यय हेतु शासन की अनुमती आवश्यक होगी।