नागदा-नागदाह टेकरी के संरक्षण हेतु उचित कार्रवाई के निर्देेश

नागदा-नागदाह टेकरी के संरक्षण हेतु उचित कार्रवाई के निर्देेश

44
SHARE

Nagda|Mpnews24|शहर की प्राचीन महाभारत कालीन नागदाह यज्ञ टेकरी के संरक्षण मामले में प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा मामले में उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिये हैं। उक्त जानकारी देते हुए बंटू बोडाना ने बताया कि नागदाह टेकरी के संरक्षण को लेकर वर्ष २०१२ से मांग उठ रही है।
पूर्व नपाध्यक्ष श्रीमति शोभागोपाल यादव ने टेकरी को पर्यटन स्थल बनाने की योजना बनाई थी और नगर पालिका द्वारा एक प्रस्ताव भी पारित किया गया था। लेकिन उक्त प्रस्ताव पर कोई कार्यवाही नहीं हुई। टेकरी के क्षरण को रोकने व टेकरी को पर्यटन स्थल बनाने को लेकर आरटीआई कार्यकर्ता श्री बा़ेडाना ने कार्यवाही शुरू की तथा १९ अप्रैल २०१६ को एक मांग पत्र प्रधानमंत्री कार्यालय को नाग टेकरी संबंधित मय प्रमाण के भेज कर टेकरी का संरक्षण किये जाने की मांग की थी। जिस पर पीएम कार्यलय नई दिल्ली के अवर सचिव प्रवीण कुमार ने उक्त पत्र पर कार्रवाई करते हुए मुख्य सचिव मध्यप्रदेश शासन वल्ल्भ भवन भोपाल को पत्र क्र. पीएमओपीजी/डी/२०१७/००३२६६५ से पत्र भेज कर उचित कार्यवाही के निर्देए भी दिए है।

महाभारत कालीन है टेकरी

महाभारत कालीन नागदाह टेकरी के संरक्षण को लेकर बा़ेडाना ने नगर पालिका,, अनुविभागीय अधिकारी, जिला कलेक्टर उज्जैन, पुरातत्व विभाग इंदौर,उज्जैन, धार्मिक न्याय एव धर्मस्व मंत्री यशोध्रराजे सिंधिया भोपाल, पुरातत्व अभिलेखागार एव संग्रहालय के मुख्य आयुक्त अनुपम राजन भोपाल सहित कई विभागों में टेकरी के संरक्षण की मांग कर चुके हैं। लेकिन सभी विभाग के अधिकारी उक्त मामले को गंभीरता से न लेकर लापरवाही कर रहे है इस कारण उक्त मांग को अब प्रधानमंत्री कार्यालय प्रेषित किया गया है। जहा से उचित कार्रवाई के निर्देश मप्र सरकार को प्रदान किये गये हैं।