नागदा- अधिकारीयों की लापरवाही से सड़ा प्याज ,दुर्गंध की शिकायत पर पहुचा...

नागदा- अधिकारीयों की लापरवाही से सड़ा प्याज ,दुर्गंध की शिकायत पर पहुचा प्रशासन

46
SHARE

Nagda|Mpnews24| समर्थन मूल्य पर मार्केटिग सोसायटी के द्वारा पिछले समय खरीदा गया प्याज एक मायने में सोसायटी के कर्ताधर्ता व प्रशासन के लिए परेशानी का कारण तो बना ही है साथ ही कृषि मंडी किसानों की उपज खरीदने वाले व्यापारीयों को भी खरीदी कार्य में काफी तकलीफो का सामना तो करना पड़ ही रहा है साथ ही पूरे मंडी प्रागंण में तीखी दुर्गंध फैलने के कारण यहां का वातावरण भी एक मायने में प्रदूषण की गिरफ्त में आ गया है । आसपास के रहने वाले नागरिक भी परेशान है वहीं किसानों के लिए खोली गई चाय नाश्ते की दुकान संचालक को भी दुर्गंध भरे वातावरण में रहकर व्यापार करना पड़ रहा है। जबकि करीब एक सप्ताह पहले केंटिग के निकट बने शेड के नीचे रखे हुए प्याज की दोबारा निलामी प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में की गई थी। लेकिन इसके परिवहन के मामले में काफी लचीला रूख अपना गया। परिणाम दोबारा प्याज खरीदने वाले ठेकेदार ने अच्छा अच्छा प्याज तो ट्रक में लोड करके भेज दिया लेकिन जो प्याज सड गया उसे वहां से हटाया भी नहीं गया जिसका परिणाम यह रहा कि गुरूवार को कृषि उपज की निलामी का कार्य खासा प्रभावित हुआ है । साथ ही मंडी में बने शेड के नीचे सडा प्याज रहने के कारण उपज की खरीदी खुले में की गई। इस मामले को लेकर व्यापारी भी भडक गए थे। बाद में एसडीएम तक मामला पहुंचने पर तहसीलदार प्रियंका मिमरोट को मौका स्थल पर भेजा गया। हांलाकि समस्या का हल अभी भी अधर में है।

एसडीएम ने दिए थे तीन दिन मंडी बंद रखने के निर्देश

सडे हुए प्याज मंडी प्रागंण में पडे रहने के मामले को लेकर कृषि मंडी के सचिव को मंडी बंद रखने के तीन दिवसीय निर्देश दिए गए थे लेकिन मंडी बंद नहीं हुई। परिणाम स्वरूप गुुरूवार को व्यापारीयों ने खुले आसमान के नीचे खरीदी के कार्य को अंजाम दिया। लेकिन यहां फैली दुर्गंध इतनी तीखी थी कि व्यापारी से लेकर आसपास के लोगों को खडा रहना भी मुश्किल हो गया था जब मामला एसडीएम के समक्ष पहुंचा तथा उनके निर्र्देश पर तहसीलदार प्रियंका मिमरोट मौके पर पहुंची तो उन्होने मार्केटिक सोसायटी के कर्ताधर्ता व मंडी सचिव को इस बात के निर्देष दिए कि जो प्याज समर्थन मूल्य पर खरीदा गया है उसकी छटाई की जावे तथा जो प्याज पूरी तरह से सड चुका है ओर परेशानी का कारण बन रहा है उसको तत्काल मंडी से हटाकर कहीं डम्प करे तथा गढ्ढे में गाड दे ताकि अन्य जगह दुर्गंध न फैले । तहसीलदार ने स्पष्ट निर्देश दिए है कि दो या तीन दिन के भीतर हर हाल में सडा प्याज हट जाना चाहिए। उन्होने सम्पूर्ण घटनाक्रम की जानकारी से भी एसडीएम को अवगत करा दिया है।