नागदा-श्री मुक्तेश्वर महादेव मंदिर प्रागंण में उमड़ा श्रृध्दा का सैलाब ,लगी कतारे...

नागदा-श्री मुक्तेश्वर महादेव मंदिर प्रागंण में उमड़ा श्रृध्दा का सैलाब ,लगी कतारे सारे दिन गूंजते हर हर महादेव के जयकारे ,पार्थिव शिवलिंग की भी हुई पूजा

64
SHARE

Nagda |Mpnews24| महाशिवरात्रि का पर्व सम्पूर्ण अंचल में श्रृध्दा एवं भक्ति के साथ मनाया गया। अलसुबह से ही भगवान शिव की आराधना एवं पूजा को लेकर श्रृध्दालुओं की भीड़ मंदिरों में लगना शुरू हो गई थी। आस्था एवं मान्यता के प्रतीक माने जाने वाले चंबल तट स्थित श्री मुक्तेश्वर महादेव मंदिर प्रागंण में हजारों की संख्या में श्रृध्दालुओं का सैलाब उमड़ा हुआ था। यहां कतारबध्द होकर श्रृध्दालु महिलाओं एवं पुरूषों ने भगवान श्री मुक्तेश्वर का जलाभिषेक कर पूजा अर्चना की इसके अलावा शहर के विभिन्न शिव मंदिरों में भी सुबह से ही पूजा अर्चना का दौर शुरू हो गया था जो देर शाम तक चलता रहा। वहीं इंगोरिया रोड़ स्थित खड़े हनुमान मंदिर प्रागंण में पार्थिव शिवलिंग की पूजा भी श्रृध्दालुओं ने भक्ति भाव के साथ की। महाशिवरात्रि पर्व को लेकर विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के द्वारा भक्तजनों को नि:शुल्क रूप से फरियाली खिचड़ी का प्रसाद वितरण किया। शहर के अलावा ग्रामीण अंचलों में भी महाशिवरात्रि का धार्मिक पर्व श्रृध्दा ,भक्ति एवं आस्था के साथ मनाया गया। गांव भीकमपुर स्थित महादेव मंदिर प्रागंण में भी ग्रामीण श्रृध्दालुओं ने पूजा अर्चना कर पुण्य लाभ अर्जित किया। यहां भी श्रृध्दालुओं को नि:शुल्क फरियादी खिचड़ी प्रसाद के रूप में वितरित की गई।

भांग धतुरे से किया बाबा भोलेनाथ का श्रृंगार

शिव भक्तों के द्वारा महाशिवरात्रि के मौके पर चंबल तट स्थित श्री मुक्तेश्वर महादेव मंदिर में पहुंचकर यहां विराजित भगवान श्री मुक्तेश्वर भोलेनाथ का दुध , दही, इत्यादि व्यजंनो के साथ जलाभिषेक किया गया। वहीं भगवान शिव को भांग ,धतुरे, आकडे के फूल आदि अर्पित कर एक मायने में भगवान का श्रृंगार किया गया। प्रत्येक शिव मंदिरों में भी कमोवेश इसी तरह से धार्मिक आयोजन हुए, लेकिन प्रमुख रूप से चंबल तट स्थित श्री मुक्तेश्वर महादेव मंदिर का नजारा अलग ही दिखाई दे रहा था। यहां बाबा की एक झलक पाने के लिए घ्ंाटों कतार में श्रृध्दालुओं की भीड़ जमा थी। बारी बारी से मंदिर में प्रवेश कर सभी ने पूजा अर्चना का लाभ लिया। वहीं नगर पालिका द्वारा आयोजित सात दिवसीय मेले का भी लुफ्त उठाया। रात्रि में तो मंदिर प्रागंण से लेकर मेला क्षेत्र जगमग रोशनी में नहाया हुआ था। झुले चकरी भी मेले में हर किसी के लिए आकर्षण का केन्द्र बने हुए थे।

इन मंदिरों में भी हुई शिव पूजा

महाशिवरात्रि के पुनित एवं धार्मिक मौके पर यूं तो तमाम शिवालयों में भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना के लिए श्रृध्दालुओं की भीड़ जमा थी। वहीं श्री बद्रीविशाल मंदिर में पोरवाल समाज के द्वारा महाशिवरात्रि का पर्व धुमधाम के साथ मनाया गया। यहां स्थित श्री केदारेश्वर महादेव का सुबह रूद्राभिषेक समाजसेवी कैलाश सेठिया परिवार द्वारा किया गया। दोपहर 12 बजे महाआरती कर प्रसादी का वितरण किया गया। शाम को श्री केदारेश्वर महादेव का दुल्हे का श्रृंगार किया गया तथा विशेष साज सज्जा भी की गई। इस मौके पर समाज के महिला पुरूषों के अलावा श्रृ़ध्दालुओं ने पूजा अर्चना की। इसी प्रकार इंगोरिया रोड़ स्थित खड़े हनुमान मंदिर में रूद्राभिषेक एवं पार्थिव शिवलिंग का भव्य आयोजन आचार्य वैभवजी पाठक उज्जैन के आचर्यत्व में सम्पन्न किया गया। यहां बड़ी संख्या में श्रृध्दालुओं ने हिस्सा लेकर सामुहिक रूप से पार्थिव शिवलिंग का पूजन किया। यह आयोजन किराना व्यापारी संघ एवं महिला मंडल नागदा के बैनरतले आयोजित किया गया था।

बिरलाग्राम भी था शिव भक्ति में लीन

यूं तो भगवान शिव की भक्ति में हर कोई लीन दिखाई दे रहा था। महाशिवरात्रि के धार्मिक पर्व को लेकर बिरलाग्राम के विभिन्न शिव मंदिरों में भगवान भोलेनाथ का मनमोहक श्रृंगार किया गया था। यहां भगवान श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर प्रागंण में विराजित भोलेनाथ की श्रृध्दालुओं के द्वारा बिल पत्र आदि चढ़ाकर जलाभिषेक कर पूजा अर्चना की गई। इसी प्रकार बड़े गणपति मंदिर प्रागंण स्थित शिव मंदिर में भी श्रृध्दालुओं ने पूजा अर्चना कर पुण्य लाभ अर्जित किया। इसके अलावा मेहतवास ,नायन ड़ेम स्थित मंदिरों में भी सुबह से लेकर शाम तक भगवान शिव शंकर की पूजा अर्चना की गई। चिकित्सालय मार्ग स्थित शिव हनुमान मंदिर ,शीतलामाता चौक स्थित मंदिर, गुलाबबाई कॉलोनी स्थिति श्री नर्मेदेश्वर मंदिर, केदारेश्वर महादेव मंदिर, बस स्टेण्ड स्थित शिव मंदिर आदि शामिल थे।