नागदा-30/01/2017 ,6 ख़बरे फटाफट , पढ़े ज़रूर

नागदा-30/01/2017 ,6 ख़बरे फटाफट , पढ़े ज़रूर

246
SHARE

1.हमारी संस्कृति सिर्फ सृजन करना सिखलाती है-श्री झा

महान उनायक स्वामी विवेकानंद के १५४वी जन्म शताब्दी पर युवा संकल्प सेवा समिति द्वारा श्रीराम कॉलोनी स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में एक व्याख्यान माला आहुत की गई थी। जिसमें मुख्य वक्ता मालवा प्रांत समरसता प्रमुख मा.प्रमोद झा थे। यहां उन्होंने मौजूद युवाओं को सम्बोधित करते हुए धर्म और संस्कृति पर बेबाक तरीके से व्याख्यान दिया। उन्होने कहा कि भारत की संस्कृति अन्य देशों की संस्कृति की तुलना में अलग है। हमारी संस्कृति मेे सृजन करना सिखलाया जाता है। हम वसुदेव कुटुबकम्प की विचार धारा रखकर काम करने वाले लोग है। इसीलिए हमे भारतीय होने पर गर्व करना चाहिए कि हम जिस देश में रहते है उस देश की धरती भी अपने सीने पर अनाज उत्पन्न कर देश की लोगों की भुख मिटाती है। जबकि अन्य देश की संस्कृतियों में ऐसा नहीं होता है। वहां की संस्कृतियां एवं देशों में हाथों में तलवार लिए विध्वस्त का कार्य करते है।

देश को माने देवता

श्री झा ने आयोजन मौके पर विवेकानंदजी के जीवन चरित्र पर विस्तार से प्रकाश ड़ालते हुए युवाओं को इस बात की प्रेरणा दी कि युवाओं को खेल के माध्यम से अपने मन मस्तिष एवं शरीर को स्वस्थ्य रखना चाहिए ताकि ईश्वर की आराधना में स्वस्थ्य रूप से भागीदारी ले सके। उन्होंने कहा कि युवाओं को ५० वर्ष की आयु तक अपने आप को युवा मानना ही चाहिए तथा देश को ही अपना देवता मानकर उसकी सेवा पूजा करना चाहिए। उक्त आयोजन में मुख्य अतिथि के रूप में नगर संचालक विरेन्द्र सकलेचा भी प्रमुख रूप से मौजूद थे। उन्होने भी यहां अपनी बात रखी। कार्यक्रम की शुरूआत में अतिथियों के द्वारा स्वामी विवेकानंदजी के चित्र पर माल्यापर्ण एवं दीप प्रवलित किया।

इन्होने किया अतिथियों का स्वागत

कार्यक्रम में मौजूद अतिथियों का स्वागत समिति के अध्यक्ष हरिश रघुवंशी, सचिव सीएम अतुल एवं कार्यक्रम संयोजक श्याम शेखावत द्वारा शॉल एवं तुलसी पौधा भेंट कर किया गया । अतिथि परिचय हरिष अग्रवाल नें दिया । अमृत वचन का वाचन राकेश जिंदल के द्वारा किया गया । एकल गीत सीएम अतुल द्वारा प्रस्तुत किया ।

ये थे प्रमुख रूप से मौजूद

व्याख्यान माला में विधायक दिलीपसिंह शेखावत, नपा अध्यक्ष अशोक मालवीय, जवाहर नवोदय विद्यालय प्राचार्य के.बी गुप्ता , सजनसिंह शेखावत, मण्डल अध्यक्ष राजेश धाकड, ओमप्रकाश चौहान, शोभा गोपाल यादव, महेश व्यास, रामसिंह शेखावत, डीके शर्मा, डीके गांधी, आरएन शर्मा, योगेष शर्मा, धर्मेन्द्र बघेल, जितेन्द्र अग्रवाल, संतकुमार शर्मा, अजय जाटवा, राजकुमार सिसोदिया, विशाल बहल, निरंजन पाण्डे, अजय कुशवाह, राजेन्द्र कांठेड, जैना श्रीमाल, बन्टु सक्सेना आदि मौजूद थे। संचालन जितेन्द्र कुशवाह नें किया एवं आभार हरिष रघुवंशी नें माना ।

2.नर्सरी के पास वन विभाग की जमीन पर धडल्ले से हो रहा अतिक्रमण

ग्राम नायन रोड स्थित वनविभाग की जमीन पर इन दिनों धडल्ले से अतिक्रमण प्रभावशाली लोगों द्वारा किया जा रहा है। प्रशासन अतिक्रमण के एक मामले में संबंधित पर जुर्माना कर उससे इस बात का शपथ-पत्र ले चुका है कि भविष्य में वहाँ उसके द्वारा किसी तरह का अतिक्रमण नहीं किया जावेगा। बावजुद इसके गत दिनों उसी स्थान पर न सिर्फ अतिक्रमण किया गया बल्कि पूर्व में हटाये गये निर्माण को वापस काबिज कर पुरी जमीन पर अतिक्रमण कर लिया गया है। समीप ही एक अन्य स्थान पर भी लोगों द्वारा अतिक्रमण किया जा रहा है। मामला प्रशासन के संज्ञान में होने के बावजुद शासकीय भूमि पर या तो राजनीतिक संरक्षण के चलते संबंधित लोगों द्वारा अतिक्रमण किया जा रहा है या फिर प्रशासन के ढीले रवैये को देखते हुए लगता है की अतिक्रमणकारियों की प्रशासन से भी सांठगांठ हो चुकी है।

अतिक्रमणकारियों को नेताओं का संरक्षण या फिर प्रशासन की सांठगांठ

वन विभाग की शासकीय जमीन पर हो रहे अतिक्रमण से जुडे मामले में विभाग के अधिकारियों का मौन रहना भी कम आश्चर्यजनक नहीं है। यहाँ पिछले कुछ दिनों या कुछ महिनों में अतिक्रमण की शुरूआत नहीं हुई है जल्कि २०१५ में भाजपा से जुडे लोगों ने शासकीय जमीन पर गड्ढे खोद कर निर्माण कार्य शुरू किये थे। शिकायत होने पर प्रशासन ने थोडी गंभीरता पूर्व में जरूर दिखाई थी अतिक्रमणकारी पर १००० रूपये का जुर्माना तहसीलदार द्वारा किया गया था। साथ ही उससे यह शपथ-पत्र लिखवा कर लिया गया था कि भविष्य में वहाँ उसके द्वारा किसी तरह का अतिक्रमण नहीं किया जावेगा। इस कार्रवाई के बाद भी मौके पर से अतिक्रमण हटाना तो दूर की बात वहाँ अतिक्रमणकारियों ने बडे पैमाने पर नये अतिक्रमण करना आरंभ कर दिये है। आज स्थिति यह हो गयी है कि वन विभाग की भूमि पर जहाँ नर्सरी का गेट है उसके सामने ही दायें-बायें दो मकान अतिक्रमण कर खडे कर दिये गये हैं। इससे नर्सरी में आने-जाने के लिए रास्ता भी अवरूद्ध हो चुका है।

नगर पालिका खाचरौद के कर्मचारीयों का भी अतिक्रमण

शासकीय भूमि पर लगभग एक दर्जन जिन लोगों ने अतिक्रमण किया है उनमें ग्रामीण भी शामिल हैं और खाचरौद नगर पालिका में काम करने वाले कर्मचारी भी शामिल हैं। राजनीतिक संरक्षण प्राप्त अतिक्रमणकारियों के हौंसलों को देखते हुए ग्रामीण भी बेखोफ होकर वहाँ अतिक्रमण करने में लगे हुए हैं। लगभग ६ स्थानों पर अतिक्रमण कर मकान बना लिये गये हैं। अतिक्रमण की शिकायत प्रशासन को किये जाने के बावजुद वहाँ किसी तरह की प्रभावी कार्रवाई न होना इस बात को दर्शा रहा है कि प्रशासन की भी सांठगांठ अतिक्रमणकारियों के साथ है। कुछ ग्रामीणों ने यहाँ हो रहे अतिक्रमणों पर प्रश्न उठाते हुए यहाँ तक कहा है कि अतिक्रमणकारी अतिक्रमण के बदले राजनेताओं के साथ-साथ प्रशासनिक अधिकारियों को भी पैसा देने की बात कर रहे है।

पटवारी की संलिप्ता भी सामने आयी

अतिक्रमण की जानकारी प्राप्त होने पर मिडियाकर्मीयों ने जब तहसीलदार रमेशचन्द्र सिसौदिया का ध्यान इस और आकर्षित किया तो उन्होंने कार्रवाई की बात कहते हुए पटवारी पर मौके पर पहुँचाया। पुरे दिन अतिक्रमण में निर्माण कार्य मौके पर चलता रहा लेकिन जाँच के लिए पटवारी मौके पर दिन बीतने के बाद पहुँचा। दुसरे दिन अतिक्रमणकर्ता को हिदायत यह दी गयी कि मामले में शिकायत हो रही है, इसलिए निर्माण कार्य रोक दिया जावे। मिली जानकारी के अनुसार अतिक्रमणकारी को पटवारी द्वारा कहा गया कि शनिवार-रविवार का दिन कार्यालयिन अवकाश रहेगा तब निर्माण कर लेना। अतिक्रमणकारी ने भी इसी बात का फायदा उठाते हुए वहाँ शनिवार-रविवार के दिन ही निर्माण कर कमरे का निर्माण कर लिया है।

3.गोकुलवासियों की रक्षा के लिए श्रीकृष्ण ने उठाया था गोवर्धन पर्वत ,ग्राम लेकोड़िया में चल रहा आयोजन, आज होगा रुकमणी विवाह

गोवर्धन पर्वत से जुड़ी कई कथाएं प्रचलित है, कहा जाता है कि जब बृज में देवराज इंद्र के कोप से मूसलाधार बरसात हुई तो श्री कृष्ण ने गोकुलवासियों की रक्षा के लिए अपनी तृजनी उंगली पर छाते की तरह गोर्वधन पर्वत को सात दिन तक उठाए रखा था, तभी से मान्यता है कि गोर्वधन की परिक्रमा करने से सारी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है।
यह अमृत वचन संत श्रीवर्षा नागर ने ग्राम लेकोडिया में चल रही भागवत कथा में व्यक्त किए। सांध्वी श्री ने कहा कि पापियों के संहार के लिए ही श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था, भगवान श्री कृष्ण ने प्रहलाद की रक्षा भी समय-समय पर की थी। प्रसंग समापन के अंत पर महाआरती कर प्रसादी का वितरण किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में भेरुलाल टांक, दयाराम धाकड़, सुभाष बैरागी, गोकुलसिंह, दिलीप पाटीदार, बाबुलाल जाट, शंकर पाटीदार, जीवनसिंह सहित बडी संख्या में समिति सदस्य जुटे हुए है।

आज होगा रुकमणी विवाह

वृद्ध स्तर पर चल रही कथा में मंगलवार को कथा में भगवानश्रीकृष्ण व रुकमणी विवाह का प्रसंग होगा।जिसको लेकर आयोजन समिति ने तैयारियों शुरु कर दी है।वहीं श्रद्धालुओं से समिति ने निवेदन किया है कि वह एक-जैसे व धारण कर कथा प्रांगण में पहुंचे।

4.नेत्र शिविर में 105 रोगीयों का किया परिक्षण, 31 को भेजा ऑप्रेशन के लिए

लायन्स क्लब नागदा के तत्वाधान में ग्राम बैरछा में नेत्र रोग परिक्षण एवं ऑप्रेशन शिविर सोमवार को आयोजित किया गया। शिविर में विशेषज्ञ चिकित्सकों ने १०५ लोगों के आँखों की जांच कि जिनमें से ३१ को मोतियाबिन्द पाये जाने पर ऑप्रेशन के लिए लायन्स नेत्र चिकित्सालय जावरा भेजा गया। ऑप्रेशन के लिए चयनित लोगों के आने-जाने, रहने तथा खाने की व्यवस्था क्लब द्वारा की गई थी। क्लब के अध्यक्ष गोविन्दलाल मोहता व सदस्यगण डॉ. प्रदीप रावल, निरंजन खण्डेलवाल, अजय मरमट, गुलजारीलाल त्रिवेदी, हरिश तिवारी, डॉ. अनिल दुबे, डॉ. हर्षित पोरवाल, डॉ. एस.आर. चावला, रवि शर्मा आदि ने शिविर आयोजन को लेकर अपनी भागीदारी निभाई। क्लब के सचिव सुनील नरूला ने बताया कि बैरछा में आयोजित शिविर लायन इयर का ७ वाँ शिविर है।

5. शत प्रतिशत लक्ष्य हांसिल करने का दावा, आज पल्स पोलियो अभियान का अंतिम दिन

राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान के दुसरे दिन पोलियो ड्राप्स पिलाये जाने से वंचित रहे ० से ५ वर्ष की आयु के बच्चों को स्वास्थ्यकर्मीयों ने सोमवार को घर-घर जाकर पोलियो दवाई पिलाई। इस कार्य के लिए गठित ४३७ दल नागदा नगर एवं ग्रामीण क्षेत्र में बच्चों को पोलियो दवाई पिलाने के लिए नागरिकों के घरों पर पहुँचे। ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ. संजीव कुमरावत ने बताया कि पुरे ब्लॉक में लगभग ८८ हजार घरों पर दस्तक देकर छुटे बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने का लक्ष्य रखा गया था। दुसरा दिन समाप्त होने तक उन्हेल क्षेत्र में कुल ९४ प्रतिशत बच्चों को दवाई पिलाई गई तथा नागदा ९२ प्र्रतिशत खाचरौद में ९१ प्रतिशत बच्चों को दवा पिलाई जा चुकी थी। अभियान की प्रगति एवं जन सहयोग को देखते हुए विभाग द्वारा यह अनुमान लगाया गया है कि मंगलवार को अंतिम दिन तक कार्य में लगे दल शत प्रतिशत लक्ष्य हांसिल कर लेंगे।

6.आमजन की सेवा करें, समय व सरकार का बहाना ना बनाए – मालपानी 26 फरवरी को वृहद बैठक करने का निर्णय

राजनीति करना है और इसमें सफल होना है तो हमें आमजन की सेवा और उनके अधिकारों के लिये लडना होगा । समय व सरकार न होने का बहाना बनाकर आम लोगो के काम को ना टाले। अपनी इच्छाशक्ति को मजबूत बनाकर गाँव-गाँव, वार्ड-वार्ड कांग्रेस की टीम बनाने में जुट जाये। शासकीय व निजी कार्यालयो में नियमानुसार होने वाले आमजनों के कामो के लिये कार्यालयों में अपनी दखल अंदाजी बढाये। स्थानीय अधिकारियों द्वारा काम ना करने पर उच्च अधिकारियों को अवगत कराये। वे भी काम ना करें तो संबंधित विभागों एवं अधिकारियों के खिलाफ आवाज बुलंद कर आंदोलनात्मक कदम भी उठाये। आज हम कांग्रेस के कार्यकर्ता दिलबर अली का सम्मान कर रहे है जो वर्षो से दिव्यांगजनो के प्रमाण पत्र, पेंशन व अन्य सुविधाओं के लिये निस्वार्थ रूप से लगे हुए है। पद व टिकट की आस करै बगैर श्री अली  वर्षो से हर छोटे बडे चुनावों में कांग्रेस के पोलिंग एजेन्ट बनकर कार्य कर रहे है। इन्होने पिछले 13-14 सालों से सरकार होने का बहाना कभी आमजनों के सामने नहीं बनाया। हमें ऐसे कांग्रेस कार्यकर्ता से पे्ररणा लेनी चाहिये। यह बात किसान कांग्रेस एवं युवा कांग्रेस की आर्य गार्डन पर आयोजित एक बैठक के दौरान खेत मजदूर किसान कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री बसंत मालपानी ने कही।
यह जानकारी देते हुए युवा कांग्रेस विधानसभा उपाध्यक्ष कमल आर्य ने बताया कि बैठक में नागदा खाचरौद विधानसभा क्षेत्र के शहरी व ग्रामीण क्षेत्र से सैकडो कार्यकर्ता आये थे। जिन्हे वार्डो की, गांवो की, स्कूलो की तथा काॅलेजो में संगठन के विस्तार हेतु जवाबदारियां दी गई। जिसमें निर्णय लिया गया कि आगामी दिनो में हर 15 दिन में बैठक आयोजित की जायेगी वहीं बैठको में लिये गये निर्णय को एक माह में अमली जामा पहनाया जायेगा। सभी कार्यकर्ताओं से राय मशविरा के पश्चात निर्णय लिया कि कांग्रेस संगठन की नागदा खाचरौद क्षेत्र की बैठक 26 फरवरी को दोपहर 1 बजे आर्य मैरिज गार्डन पर आयोजित की जायेगी। इस अवसर पर खाचरौद के कांग्रेस कार्यकर्ता दिलबर अली का आमजनों की सेवा के लिये शाल, श्रीफल एवं पुष्पमालाओं से अभिनंदन किया गया ।
इस अवसर पर कमल आर्य, रामकिशोर भाटी, अमृतलाल चैहान, अशोक परांजपे, दिलीप फतरोड, उत्तम राव, प्रकाश परमार, जुम्मन खान, आरिफ खान, कयूम मेव, विनोद राठौड, श्रवण सोलंकी, लखन परमार, प्रहलाद मेवाती, पुखराज पटेल, उंकारलाल कचरोटिया, मोहनलाल वालिया, अर्जुन शर्मा, सत्यनारायण सोलंकी, गोरधनलाल वालिया, जितेन्द्र राठौड, जीवन यादव, जितेन्द्र मकवाना, मुकेश अहिरवार, गिरधारी चन्द्रवंशी, उंकारलाल परमार, महेश चैहान, अनिकेत पांचाल, हिमांशु गौरी, कलश तिवारी, कैलाश चैहान, दशरथ राठौर, मोहित पांचाल, आदर्श झाला, घनश्याम चैहान, आमीन खान, विशाल गोयल, सुरेश सिंह मकला, विशाल बेनर्जी, मयंक बेनर्जी, कमल सूर्यवंशी, मांगीलाल सूर्यवंशी, दिनेश गुजराती, निक्की ठाकुर, नेपालसिंह राठौड, सतीश शर्मा, पवन शेर, छगनलाल भनोपिया, राहुल शर्मा, अकरम खान, शीतल शर्मा, अजय बोरासी, सीताराम चैहान, शाहरूख मेव, यूनुस कुरैशी, अशोक जोशी, कमल पंवार, महेन्द्र रेवाल, लखन चैहान, निक्कु तंबोली, विरेन्द्र मालपानी, नरेन्द्र देवडा आदि मौजूद थे।